ऐसे रखे त्वचा को स्वस्थ

Tips for Healthy Skin in Hindi

साफ और दमकती हुई त्‍वचा अक्‍सर लड़कियों का ख्‍वाब होता है। कई लड़कियों की इतनी साफ त्‍वचा होती है कि अक्‍सर उन्‍हें देखने वाले लोग चौंक जाते हैं। आप सोंचते होगें कि उन्‍हें ये त्‍वचा विरासत में ही मिली होगी और आप खुद के बारे में सोंच कर उदास हो जाती होगीं। पर ऐसा बिल्‍कुल भी नहीं है, किसी भी लड़की कि त्‍वचा चमकदार बन सकती है पर अगर उस पर लगातार ध्‍यान दिया जाए तो। Read Tips for Healthy Skin in Hindi (Twacha Ko Swasth Rakhne Ke Tips).

Tips for Healthy Skin in Hindi

(Twacha Ko Swasth Rakhne Ke Tips)

1. अपना साबुन सावधानी से चुने (Choose Your Soap Carefully)

जिस साबुन में नमी प्रदान करने वाले अंश ना हों, वह स्थिति को और खराब करेगा। इसीलिए एक अच्छा माइश्चरायज करने वाला साबुन चुनें जिसमें अधिक रसायन ना हों।

Healthy-Skin

2. धूप से बचें (Avoid Sun Rays)

सोरायसिस से ग्रस्त लोगों को घावों को सुधारने के लिए विटामिन डी की आवश्यकता होती है। कोशिश करें कि सुबह 7 से 9 के बीच आप धूप सेक सकें, कम से कम 30 मिनट के लिए। इसके बाद सूर्य की किरणें हानिकारक हो सकती हैं, व स्थिति खराब कर सकती है। अच्छा सन ब्लॉक इस्तेमाल करें जिसका SPF कम से कम 15 हो। हर दो घंटे में सन ब्लॉक लगाए। यदि आपको पसीना आ रहा है या आप तैरते हैं तो इसका इस्तेमाल बढ़ा सकते है।

3. नियमित स्नान (Daily Bath)

रोज स्नान मृत व अधिक त्वचा को हटा देगा। यह छिली और उठी हुई त्वचा को कम करेगा। गर्म पानी और अधिक रसायन वाले साबुन का प्रयोग ना करें। बल्कि अधिक फैट व तेल वाले माइल्ड साबुन ले। अगर दिन में दो बार नहाने से आपकी त्वचा अच्छा महसूस करे, तो दिन में दो बार नहाएँ।

4. त्वचा को नम रखें (Moisture on Skin)

अपनी त्वचा को हमेशा नम रखें। सोरायसिस जैसी त्वचा के लिए गाढ़ा माइश्चरायजर प्रयोग करें जो त्वचा को स्वस्थ व नर्म रखे। अगर आपकी त्वचा ज्यादा रूखी है तो लोशन व माइश्चरायजर की जगह तेल उपयोग में ले। ये आपकी त्वचा को पूरी तरह पोषण देगा। सर्दियों व गर्मियों में त्वचा की अधिक देखभाल करे। त्वचा को नम रखने से वह जल्दी अच्छी होगी।

5. उचित भोजन लें (Health Diet)

स्वस्थ भोजन नई तरीकों से हमें मदद करता हैं पर क्या आप जानते हैं कि ये आपको सोरायसिस को नियंत्रित करने में भी मदद कर सकता है। अपने खाने से तैलीय, फैटी भोजन और लाल मांस हटा दे। भोजन में खूब सारे फल और सब्जियाँ आपकी त्वचा के सेल्स को अच्छा करता है। मांस में आप लीन मीट, या मछली चुन सकते है। सबसे श्रेष्ठ भोजन हैं- सोया, क्रैनबैरी, नट्स और चॉकलेट। खाने की वजह से सोरायसिस का बढ़ना रोकने के लिए आप ऐसे भोज्य पदार्थों को लिख सकते हैं जो आपकी त्वचा पर खुजली करें।

6. रात भर की सुरक्षा (Apply Cream at Night too)

त्वचा का छिलना, लाल होना और खुजली को रोकने के लिए आप विषेशज्ञ द्वारा लिखी गई क्रीम या ऑइंटमेंट लगाएँ। प्रभावित जगहों पर क्रीम लगाकर उसे प्लास्टिक से ढक दे। यह रात भर के लिए क्रीम को त्वचा पर ब्लॉक करता हैं। अगले दिन सुबह प्लास्टिक हटा कर धो दे।

7. तनाव को दूर रखें (Avoid Stress)

तनाव स्थिति को और खराब करता है। अधिक तनाव शरीर को अस्वस्थ और थका हुआ रखेगा। अपने विभाग को तनाव भरी सोच से दूर रखें। शांत रहें व कम सोचें। आप चाहें तो तनाव दूर करने के व्यायाम भी कर सकते है।

8. शराब का सेवन न करें (Avoid Alcohol)

शराब सोरायसिस के कुछ उपचारों का असर कम कर देगी अतः अच्छा यह है कि आप इस बुरी आदत को छोड़े व स्वास्थ बनाएं।

9. धूम्रपान त्यागें (Avoid Smoking)

धूम्रपान एक ऐसी आदत हैं जो त्वचा की स्थिति को खराब करेगी। यह भी सोरायसिस उपचार का असर कम करता है। अतः एक स्वस्थ जीवन शैली अपनाएँ और धूम्रपान के असर को दूर करे।

10. रसायनिक उत्पादों का उपयोग न करें (Avoid Cosmetics Containing Chemicals)

तेज रसायन युक्त कॉस्मेटिक्स से दूर रहे। यह ना सिर्फ त्वचा को नुकसान पहुँचाता हैं बल्कि सोरायसिस को भी बढ़ावा है। सोरायसिस से ग्रस्त लोगों के लिए डियोड्रन्ट्स उपयुक्त नहीं है। त्वचा के सीधे सम्पर्क में आने वाले कॉस्मेटिक्स को अधिक से अधिक नजरअंदाज करें क्योंकि ये त्वचा पर जलन कर सकते है। अगर कोई उत्पाद उपयोग करना हैं तो ‘‘सेन्सिटिव स्किन‘‘का लेबल देख ले। संवेदनशील त्वचा के लिए बने उत्पादों का प्रयोग करे।

11. स्वथ्य जीवन शैली (Healthy Lifestyle)

अच्छे भोजन के साथ ही रोज शारीरिक क्रियाएँ अधिक करें। अधिक वजन भी स्थिति को खराब कर सकता है। अतः क्रियाशील रहें व आलस्य को त्यागें। सोरायसिस ग्रस्त लोग अधिकतर आलस्य महसूस करते हैं, इसलिए स्वयं को किसी ना किसी कार्य में व्यस्त रखें।

12. किसी भी दूसरी सोरायसिस को बढ़ावा देने वाली चीजों को नजरअंदाज करें (Avoid Psoriasis Provoking Things)

घाव, चोटें, धूप से संपर्क अन्य किसी तरह के इन्फेक्शन सोरायसिस को बढ़ा सकते है। इसलिए एसी कोई चीज जिससे आपको लगे कि बीमारी बढ़ सकती है तो उसे नजर अंदाज करे। अधिकतर लोगों ने देखा होगा कि घाव में पतली त्वचा आती है। घाव व चोटें इसलिए भी हानिकारक हैं क्योंकि खुले भाग के आसपास मृत त्वचा इकट्ठा होना चालू हो जाएगी। इसलिए त्वचा को नम व स्वस्थ रखें। अपनी स्थिति को अनदेखा न करें। अगर आपको सोरासिस के लक्षण दिखते हैं, तो तुरंत चर्म विशेषज्ञ की सलाह लें। गंभीर स्थिति में बाजार में उपलब्ध सोरायसिस की क्रीम्स का उपयोग करें। गुस्सा दूर रखें। इन घरेलू नुस्खों का उपयोग कर सोरायसिस का राहतभरा उपचार करें और साफ त्वचा पाएँ।

You may also like

Tips To Get Instant Fresh Skin In Hindi

Benefits Of Garlic For Skin In Hindi

Benefits of Beetroot for Skin in Hindi

Benefits of Chandan for Skin in Hindi

Vitamin C Benefits for Skin in Hindi

Recipes Of Drinks To Look Younger In Hindi

Anjeer for Skin in Hindi

How to Get Beautiful Skin in Hindi

Remedies for Skin in Hindi

Pomegranate Peel For Pimples In Hindi

Home Remedy for Tanning in Hindi

Juices for Young Skin in Hindi

Tips to Get Shiny Skin in Hindi

Home Remedies For Dark Circles in Hindi

Causes of Skin Darkening in Hindi

Home Remedies for Psoriasis in Hindi

Remedies for Dark Circles in Hindi

Home Remedies for Pimples in Hindi

Benefits of Vitamins for Skin in Hindi

Homemade Body Scrub in Hindi