कान में आवाज गूंजना, टिनिटस की निशानी

Tinnitus In Hindi


टिनिटस एक ऐसी बीमारी है जिसमे बिना किसी वजह के कानों के अंदर एक आवाज़ गूंजती रहती है। यह आम समस्या नहीं है। यह बीमारी नहीं बल्कि किसी बीमारी का लक्षण है। यह blood vessels की समस्या या उम्र के साथ सुनने की शक्ति कम होने से जोड़ी जा सकती है। लोग इस समस्या से काफी परेशान रहते हैं क्योंकि इससे सुनने की क्षमता पर असर पड़ता है। इसके बावजूद यह कोई बड़ी समस्या नहीं है। उम्र के साथ साथ लोगों की सुनने की क्षमता कम हो जाती है। कुछ उपचारों की मदद से इसे ठीक किया जा सकता हैं। Read about tinnitus in Hindi (Kaan Mein Awaz Gunjna-Tinnitus).

Kaan Mein Awaz Gunjna - Tinnitus

Tinnitus In Hindi

(Kaan Mein Awaz Gunjna-Tinnitus)

टिनिटस के लक्षण (Symptom of Tinnitus)

आसपास किसी भी तरह की आवाज़ ना होते हुए भी कानों में आवाज़ का गूंजना ही टिनिटस कहलाता है। इसके कुछ लक्षण:-

  1. सिसकारी
  2. दहाड़
  3. कानबजना
  4. आवाज़गूंजना

स्थिति के गंभीरता के अनुसार कान में आवाज़ का गूंजना कम या ज़्यादा हो सकता है। कुछ लोगों को आवाज़ें एक कान में ही सुनाई देती है, कुछ को दोनों कानों में। कुछ लोगों को ये आवाज़ें इतनी तेज़ सुनाई देती है कि वो असली आवाज़ ही नहीं सुन पाते। कुछ लोगों के लिए यह समस्या अस्थायी रूप से परेशान करने वाली होती है और अन्य लोगों काफी दिनों तक इस समस्या से परेशान रहते है।

टिनिटस के प्रकार (Type of Tinnitus)

1. व्यक्तिपरक टिनिटस (Subjective Tinnitus)

यह एक ख़ास प्रकार का टिनिटस है जिसमें आप सुन सकते हैं। ज़्यादातर लोग को इस प्रकार के टिनिटस होता हैं। इसका मुख्य कारण कान के अंदरूनी, बाहरी तथा मध्य भाग में समस्या होना होता है। अगर आप को सुनने की नसों में कोई समस्या हैं तो आपको व्यक्तिपरक टिनिटस की है।

2. वस्तुगत टिनिटस (Objective Tinnitus)

यह टिनिटस काफी कम लोगों में पाया जाता है। सिर्फ डॉक्टर ही जांच के दौरान इसे सुन सकते हैं। इस प्रकार के टिनिटस का मुख्य कारण blood vessels में किसी प्रकार की समस्या है। यह अंदरूनी हड्डियों की कोई समस्या मांसपेशियों में मरोड़ की परेशानी हो सकती है।

Image Source

You may also like

0 comments

Leave a Reply