स्ट्रेच मार्क्स के लिए उपचार

Remedies for Stretch Marks in Hindi

पैर, हाथ, पृष्ठ भाग पर तथा छाती एवं पेट पर लंबे घाव के निशानो को स्ट्रेच मार्क्स कहते है। ये निशान सामान्य से ज़्यादा सफ़ेद होते हैं। खिंचाव के निशान अक्सर त्वचा की वृद्धि (यौवन में आम) या वजन बढ़ने (जैसे गर्भावस्था, मांसपेशियों के निर्माण या मोटापा तेजी से बढ़ने) सहित त्वचा के तीव्र खिंचाव के कारण होते हैं या कुछ मामलों में त्वचा का अत्यधिक खिंचाव जो त्वचा के लचीलेपन को काबू कर लेता है। Read Remedies for Stretch Marks in Hindi (Stretch Marks Ke Liye Upchar).

Stretch Marks Ke Liye Upchar

Remedies for Stretch Marks in Hindi

(Stretch Marks Ke Liye Upchar)

कोकोआ-शिआ बटर से (Coco Shea Butter for Stretch Marks)

स्ट्रेच मार्क को हटाने में कोकोआ-शिआ बटर होम मेड क्रीम प्रभावी तौर पर उपयोगी है।

  • इसमें Anti-oxidant  एवं Vitamin E की प्रचूरता होती है।
  • Anti-oxidant  , Free Radicals जो skin  के sales  को नुकसान पहुँचाते है उनका उत्पादन नियंत्रित कर त्वचा को सुरक्षा प्रदान करते है।
  • Vitamin E  महत्त्वपूर्ण Anti-oxidant  में से एक है जो फ्री रेडिकल्स के प्रभाव को कम करता है, साथ ही कोशिका को होने वाले नुकसान को रोकता है।
  • यह त्वचा को दूरूस्त रखता है एवं इसकी सुरक्षा करता है।

सामग्री (Ingredient):

कोकोआ-बटर – 2 छोटे चम्मच, शिआ बटर – 2 छोटे चम्मच, विटामिन E- 1 छोटा चम्मच

विधी (Procedure):

सबसे पहले शिआ बटर एवं कोकोआ बटर को पिघालें तब विटामिन E ऑइल को पिघले हुए बटर में मिलाए। इन्हें अच्छी तरह से मिलाए तथा किसी पात्र में जमा कर ले। एक बार ठण्डी होने पर यह क्रीम ठोस रूप में जम जाएगी।

 

ब्लेक टी से (Black Tea for Stretch Marks)

  • ब्लेक टी में प्रचूर मात्रा में विटामिन B, C एवं E पाये जाते है तथा यह मैग्निशियम, पौटेशियम एवं जिंक आदि खनिज का लाजवाब स्त्रोत है।
  • यह प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाता है। Free radicals को हटाता है। Cancer  को रोकता है। मस्तिष्क एवं स्नायू तंत्र को बढ़ावा देता है। पाचन मार्ग को सुधारता है एवं हड्डियों और connective   tissue  को मजबूती प्रदान करता है। ऊर्जा बढ़ाता है तथा वजन घटाने में सहायक है।
  • इसमें मौजूद बी-काम्प्लेक्स विटामिन हमारे बालों, त्वचा एवं नाखूनों को सुधार कर हमारी खुबसूरती को बढ़ाता है।
  • विटामिन B 12 हमारी त्वचा के रंग को बढ़ाने वाले तत्व का उत्पादन करता है तथा अत्यधिक वर्णकता (पिगमेंटेशन) एवं उम्र के प्रभाव को रोकता है।

सामग्री (Ingredient):

खीरा – 1, ब्लेक टी पाउडर – 2 बड़े चम्मच, नमक – 1 छोटा चम्मच

विधी (Procedure):

2 बड़े चम्मच जितना ब्लेक टी पाउडर को 1 छोटे चम्मच नमक के साथ 2 मिनट तक उबालें। इसे ठण्डा होने दे बाद में स्ट्रेच मार्क पर लगाए।

कैस्टर ऑइल से (Castor Oil for Stretch Marks)

  • कैस्टर ऑइल कील-मुँहासों, स्ट्रेच मार्क, धूप से झूलसने, रूखी त्वचा के लिए प्राकृतिक औषधि के तौर पर कार्य करता है।
  • यह मस्सा, फोड़ा, एथलेट्स फ्रूट एवं लगातार होने वाली खूजली जैसे इनफ़ेक्शन से बचाने में सहायता करता है।
  • कैस्टर ऑइल हर उम्र में होने वाली सामान्य बिमारी दाद को प्रभावी तौर पर ठीक करता है।
  • अरण्डी का तेल कैस्टर ऑइल कोलेजन एवं इलास्टिन के उत्पादन को बढ़ाता है। इलास्टिन एक प्रोटीन है जो जुड़े हुए टिशूस में पाये जाते है। शरीर में मौजूद टिशूस को खिंचाव के दौरान किसी भी आकार को धारण करने देते है। यह खिंचाव के बाद त्वचा को इसके वास्तविक आकार में बनाये रखने में सहायक है।

सामग्री (Ingredient):

कैस्टर ऑइल, पानी

विधी (Procedure):

अरण्डी के तेल की एक मोटी परत स्ट्रेच मार्क पर लगाए। इस भाग को प्लास्टिक से ढ़क दे। गर्म पानी की बोतल से 20 मिनट तक सेक करें।

 

जैतून के तेल की मालिश से (Oilve Oil for Stretch Marks)

  • जैतून के तेल में चार मुख्य एंटीऑक्सीडेंट पाये जाते है। जो इसे शरीर को साफ रखने वाला, नमी प्रदान करने वाला, एवं त्वचा को सुरक्षा प्रदान करने वाला बनाते है।
  • इन एंटीऑक्सीडेंट में विटामिन A और E है।
  • विटामिन E फ्री रेडिकल्स के ऑक्सीडेंट प्रभाव जो कोलेजन को नुकसान पहुँचाता है एवं जो झूर्रियों, फाईन लाइन, रूखी त्वचा का मुख्य कारण है, को खत्म करता है।
  • विटामिन E फ्री रेडिकल्स के लगातार प्रभाव को कम करता है।
  • विटामिन A त्वचा की अंदरूनी परत डर्मिस को मोटी बनाता है तथा इसे सक्रिय करता है तथा झूर्रियों एवं फाईन लाईन को खत्म करता है तथा त्वचा की ऊपरी परत तक रक्त के प्रवाह को बढ़ाता है।

सामग्री (Ingredient):

ऑलिव ऑइल

विधी (Procedure):

हल्का गर्म किया हुए जैतून के तेल से स्ट्रेच मार्क पर मालिश करे। बाद में पानी से धो ले।

 

शक़्कर है असरदार स्ट्रेच मार्क हटाने में (Sugar for Stretch Marks)

  • स्ट्रेच मार्क से बचने के लिए शक्कर एक बेहतरीन घरेलू उपचार है।
  • शक्कर त्वचा को उत्तेजित करतk है तथा ताजा एवं जवां दिखातk है।
  • शक्कर के छोटे कण त्वचा को रगड़कर साफ करता है पूरानी खराब व मृत त्वचा को निकालने में उपयोग होते है।
  • शक्कर रूखी त्वचा का उपचार करने में काम आता है। यह एक ऐसी स्थिति है जिसमें त्वचा गहरी होती है ।
  • यह मुँहासों एवं धूप से झूलसने को कम करता है।

सामग्री (Ingredient):

शक्कर – 1 छोटा चम्मच, बादाम का तेल, नींबू का रस

विधी (Procedure):

शक्कर, बादाम का तेल एवं नींबू के रस को मिला ले। 5 मिनट तक इन्हें अच्छी तरह मिलाएं। इस मिश्रण को स्ट्रेच मार्क पर लगाएं तथा 10 मिनट तक हल्का रगड़ते रहें। अब पानी से धो ले। इस प्राकृतिक तत्व से बनी घरेलू उपचार से स्ट्रेच मार्क को अलविदा कहे।

You may also like

Benefits of Neem for Skin in Hindi

Causes of Dry Skin in Winters in Hindi

Lady Finger for Skin and Hair in Hindi

Vitamin C Benefits for Skin in Hindi

Waxing Tips in Hindi

Facepack For Summer Tanning In Hindi

Beauty Benefits of Eggs in Hindi

What Is Insomnia In Hindi

Home Remedies For Chickenpox In Hindi

Home Remedies for Pimples in Hindi

Tips to Get Shiny Skin in Hindi

Homemade Makeup Remover in Hindi

Benefits of Chole for Skin in Hindi

Juices for Young Skin in Hindi

Tips To Do Manicure At Home In Hindi

Remedies For Leucoderma In Hindi

Pimples Causes and Treatment

Benefits of Vitamin C for Skin in Hindi

Tips for Dry Lips in Hindi

Causes of Dry Skin in Winters in Hindi

Remedies For Leucoderma In Hindi