मोटापा कम करने का कामयाब उपाय नेचुरोपैथी

Naturopathy for Weight Loss in Hindi

आज के वक्त में ज़्यादातर लोग मोटापे की समस्या से जूझ रहे है। बदलती जीवनशेली और व्यायाम का अभाव हमारे शरीर पर बहुत बुरा प्रभाव डाल रहा है। हम घंटो कंप्यूटर पर बैठे रहते है। फास्ट फुड का सेवन करते है। जिससे हमारी शरीर पर चर्बी जमने लगती है और हमारे शरीर का वजन बढ़ जाता है। Read Naturopathy for Weight Loss in Hindi (Motapa Kam Karne ke Liye Naturopathy).

Naturopathy for Weight Loss in Hindi

क्या आप जानते है प्रकर्ति की मदद से भी शरीर को ठीक रखा जा सकता है। कुदरत के साथ हम अपनी सारी तकलीफो को कम कर सकते है। तो आइए जानते है नेचुरोपैथी के बारे में जिसकी मदद से आप अपने मोटापे को भी कम कर सकते है।

Naturopathy for Weight Loss in Hindi

जानिए नेचुरोपैथी से वजन कम करने के तरीके

(Motapa Kam Karne ke Liye Naturopathy)

Naturopathy  के ज़रिए , वेट लॉस करने से पहले यह जानना ज़रूरी है , की यह क्या है ? Naturopathy एक प्राकृतिक पद्धति है। इसे औषधि विहीन उपचार के नाम से भी जाना जाता है। यह पूरी तरह से आयुर्वेद तो नही है लेकिन आयुर्वेद के काफ़ी निकट है। Naturopathy के अंतर्गत होमियोपैथी, Accupressure , सूर्या चिकित्सा, योगा, आदि चीज़े शामिल है। इसमें सर्जरी और दवाइयों का सेवन नही किया जाता है।

ज़्यादा कैलोरी का सेवन करना और काम की कमी वजन बढ़ने का एक छोटा सा कारण है। अगर Naturopathy की माने तो अगर लोग इस इक्वेशन को उल्टा कर दे तो कई हद तक अपना वजन कम कर सकते है। यहा नेचुरोपैथी में इस्तेमाल किए गये कुछ हर्ब्स के बारे में बता रहे है, जिससे की वजन कम किया जा सकता है।

1. नारियल का तेल (Coconut Oil for Weight Loss)

नारियल का तेल कुछ किलो वजन कम करने में मदद करता है। नारियल के तेल में अन्य तेलो के मुक़ाबले बहुत कम कैलोरी पाई जाती है। इसके अलावा इसमे antibacterial और antifungal गुण भी पाए जाते है। इसके सेवन से आपके शरीर का मेटाबोलिज्म रेट बढ़ता है और वजन भी कम होता है।

2. पान के पत्ते (Betel Leaf for Weight Loss)

पान के पत्ते खाने से पेट की गैस दूर होती है, खून में शक्कर का स्तर कम होता है, इसके अलावा पान के सेवन से और भी कई स्वास्थ लाभ मिलते है। पान के पत्तो को लोबिया के बीज के साथ लेने से वेट लॉस भी किया जा सकता है।

3. करेला (Bitter Gourd for Weight Loss)

अगर आपको डायबिटीज टाइप २ की समासिया है तो आपको करेले का सेवन करना चाहिए, इससे ना केवल आप अपने वजन को कम कर सकते है बल्कि इससे आपका डायबिटीस लेवल भी नही बढ़ेगा। करेले से इंसुलिन बढ़ने लगता है और कोलेस्टरॉल की समस्या से भी आज़ादी मिलती है।

करेले से Menstrual cycle  पर असर पड़ता है इसलिए जो महिला मा बनने वाली है वो इसका सेवन ना करे। इसके अलावा जिनका Liver  कमजोर है उन्हे भी इसका सेवन नही करना चाहिए।

4. गुरमर (Gumar for Weight Loss)

यह हर्ब डायबिटीज के रोगियो के लिए बेहद ही फयदेमंद मानी जाती है। इसके अलावा यह कोलेस्टरॉल, अस्थमा, कब्ज, जलन जैसी समस्याओ में भी फयदेमंद है। आजकल इसका इस्तेमाल डिएट्री supplements  में भी किया जाता है, क्योकि यह आपके शरीर का वजन कम करने में मदद करती है।

इसी तरह मशरूम, ओमेगा 3, ग्रीन टी, ग्रीन कॉफी, विटामिन C से भरपूर खाद्य पदार्थ, ज़िंक आदि आपको वजन घटाने में मदद करते है।

नेचुरोपैथी से वजन कम करने से कोई  side effect नही होता। लेकिन हर व्यक्ति को अलग अलग कारणों से वजन बढ़ता है। इसलिए बेहतर होगा की आप किसी नटुरोपेथ से सलहा ले। वो आपको मेडिसिनल हर्ब की जानकारी भी देंगे और आपके अनुसार आपका डाइट प्लान और एक्सर्साइज़ के सुझाव देंगे।

You may also like

Aerobics Exercise for Weight Loss in Hindi

Dinner For Weight Loss In Hindi

Lose Weight Without Exercise in Hindi

Personality Effect on Weight Loss in Hindi

Barley Water for Weight Loss in Hindi

Weight Loss Food for Dinner in Hindi

Weight Loss Herb in Hindi

Aerobics For Weight Loss In Hindi

Weight Loss by Climbing Stairs in Hindi

Juices to Reduce Weight in Hindi

Benefits Of Cycling For Weight Loss In Hindi

Food To Avoid After Marriage In Hindi

Effect Of Personality On Weight Loss In Hindi

Types Of Protein Shake In Hindi

Body Fat Reducing Tips In Hindi

Effects of Stress on Weight Loss in Hindi

Tips To Burn Calories In Hindi

Rose Petals to Reduce Weight in Hindi

Drinks For Weight Loss In Hindi

Causes Of Sudden Weight Loss In Hindi

Weight Loss with Acupressure in Hindi