मड थेरपी से मिलते है कई फायदे Mud therapy ke fayde

Benefits of Mud Therapy in Hindi

इंसान का शरीर 5 तत्वो से मिल कर बना होता है। नेचुरल रूप से मिट्टी में ये 5 तत्व मौजूद होते है। ये तत्व शरीर को शांति और शीतलता के साथ निरोगी बनाते है। मिट्टी को आयुर्वेद में जीवन का अस्तित्व माना गया है। इसे प्राकृतिक चिकित्सा (मूड थेरपी) कहा जाता है। हमारे देश में प्राचीन समय से ही कई बीमारियो को दूर करने के लिए इस थेरपी का इस्तेमाल किया जाता रहा है। Read Mud therapy ke fayde

मिट्टी पाया जाने वाला जिवाणु मौसम के साथ अपना रूप बदलता है और यह जिवाणु पानी के साथ मिलने पर तेज़ी के अपनी population बढ़ाता है। मिट्टी की सौंधी खुश्बू भी इसी जीवाणु की वजह से आती है। यह स्किन से रिलेटेड कई रोगो को दूर करता है।

 

Benefits of Mud Therapy in Hindi

Mud therapy ke fayde

कौन सी मिट्टी को चुने (Choice of Mud for Bath)

मिट्टी एकदम सॉफ और कंकर, पत्थर से रहित हो। इसमें किसी भी तरह का फर्टिलाइज़र और केमिकल नही होना चाहिए। इसलिए मिट्टी को ज़मीन के 2 से 3 feet नीचे से निकाले। यदि मिट्टी ज़्यादा चिपक रही हो तो उसमें थोड़ा बालू मिला ले। क्योंकि मिट्टी को शरीर पर इस तरह से लगाना चाहिए ताकि आधी इंच मोटी परत चड जाए। ऐसा करने से ऑक्सिजन स्किन पर तेज़ी से काम करती है। 20 मिनिट तक मिट्टी को शरीर पर लगे रहने दे फिर बाद में कोल्ड वॉटर से नहा ले। इसके बाद शरीर पर तेल की मसाज करे। एक बार मिट्टी का इस्तेमाल हो जाने के बाद उसको दोबारा नही लगाना चाहिए।

ड्राइ मिट्टी से बाथ (Dry Mud Therapy)

मिट्टी को किसी सॉफ कपड़े से फिल्टर कर ले, जिससे उसमें से कंकर-पत्थर निकल जाए। सॉफ होने के बाद हल्के हाथो से मिट्टी को शरीर पर रगडे। ध्यान रखे की मिट्टी पूरे शरीर पर लगनी चाहिए और 15 से 20 मिनिट तक धूप में बैठ जाए और बाद में ठन्डे पानी से नहा ले।

गीली मिट्टी से बाथ (Wet Mud Therapy)

सॉफ और कंकर रहित मिट्टी को रात को पानी में भिगो ले और अगले दिन मिट्टी के पेस्ट को पूरे शरीर पर अच्छे से माले। इसके बाद आधे घंटे तक धूप में बैठ जाए और जब मिट्टी पूरी तरह से सुख जाए तो आराम से ठन्डे पानी से नहा ले। मिट्टी जितनी देर तक शरीर से चिपकी रहेगी उतना ही शरीर बीमारियो से मुक्त होगा।

मिट्टी से नहाने के फायदे (Benefits of Mud Therapy)

  • मिट्टी का लेप शरीर लगते ही कैसा भी बुखार हो उतार जाता है। यह शरीर की जलन तक ख़त्म कर देती है।
  • मिट्टी से नियमित नहाने से सफेद दाग, Psoriasis और लेप्रोसी धीरे धीरे ठीक होने लगते है।
  • यह सिर दर्द, बदन दर्द, कब्ज, दुर्बलता, हाई ब्लड प्रेशर और मोटापा दूर करता है।
  • शरीर के अंदर और बाहर दोनो तरफ की impurities मिट्टी का लेप लगाने से दूर हो जाती है।
  • गठिया रोग और जोड़ो के दर्द से निजात पाने का सबसे सरल उपाय है मिट्टी से नहाना।

मिट्टी से नहाने से T.B, कैंसर, Eczema और स्किन संबंधी कई रोग ठीक हो सकते है। जिन लोगो का शरीर कमजोर है वह मद बाथ ना करे

आशा है आपको ये पोस्ट Mud therapy ke fayde काम आया।

Image Source

मड थेरपी से मिलते है कई फायदे

क्या होती है एरोमा थेरेपी Aroma therapy ke fayde

You may also like

Tips to Keep Lungs Healthy in Hindi

Tips To Avoid Tiredness In Hindi

Benefits Of Blood Donation In Hindi

How To Get Rid Of Body Stiffness In Hindi

Tips To Reduce Body Heat In Hindi

What Not To Do in an Interview

Smoking Quiting Tips in Hindi

Rose Benefits for Body in Hindi

Tips To Hide Double Chin In Hindi

Late Night Healthy Snacks In Hindi

Body Posture To Avoid Back Pain In Hindi

Alexander Technique for Back Pain in Hindi

What Is Aroma Therapy In Hindi

Tips To Quit Smoking In Hindi

Back Pain Causes in Hindi

How to Get Stylish Nails in Hindi

Nausea Treatment in Hindi

Rose Water Benefits in Hindi

Facial Exercise in Hindi

Exercise for High Blood Pressure in Hindi

Benefits of Copper Vessel Water in Hindi