नीम के अद्भूत स्वास्थ्य लाभ जो आपको पता होने चाहिए!

Health Benefits of Neem in Hindi

पवित्र पौधे के रूप में जाना जाने वाला नीम का वृक्ष असंख्य औषधीय गुणों से भरपूर होता है। यही कारण है कि इस पौधे के हर एक भाग जैसे पत्तियाँ, फुल और टहनियों आदि का आयुर्वेदिक औषधियाँ बनाने में उपयोग किया जाता है। हालांकि स्वाद में कड़वा होने के बावजूद नीम का विभिन्न स्वास्थ्य संबंधी समस्याओं को रोकने और ठीक करने में उपयोग किया जा सकता है। 10 प्रमुख कारण जिससे पोषक तत्वों से भरपूर नीम आपके स्वास्थ्य के लिए अच्छा है। ये है- Read Health Benefits of Neem in Hindi (Neem ke Labh)

Health Benefits of Neem in Hindi

Health Benefits of Neem in Hindi

(Neem ke Labh)

1. वजन घटाने में आपकी मदद करता है (Neem is Helpful in Weight Loss)

प्राकृतिक रूप से वजन घटाने के लिए नीम के फूल के रस का प्रतिदिन सेवन करें। ये फूल आपका मेटाबोलिज्म बढ़ाते है और आपके शरीर की वसा को तोड़ने में सहायता करते है। जिससे आपके वजन घटाने के लक्ष्य को हासिल करने में मदद मिलती है। आप मेटाबोलिज्म को बढ़ाने के लिए इन फूलों को नींबू और शहद के साथ भी उपयोग कर सकते है।

प्रयोग कैसे करें: मुट्ठीभर नीम के फूल को पीस लेवें। अब इसमें एक छोटा चम्मच शहद और आधा छोटा चम्मच नींबू का रस मिलाये और अच्छे से मिश्रण बनाएं। वजन घटाने के लिए प्रतिदिन सुबह जल्दी खाली पेट इस मिश्रण का सेवन करें।

2. आपके ब्लड शुगर स्तर को नियंत्रित करता है (Neem for Blood Pressure)

नीम की पत्तियाँ इंसुलिन रिसेप्टर को बढ़ाकर आपके ब्लड शुगर स्तर को कम करती है। इसके अतिरिक्त ये रक्त वाहिनियों को फैलाकर रक्त संचरण को सुधारती है। ये पत्तियाँ आपकी ब्लड शुगर को बेहतर तरीके से नियंत्रित कर एंटी-डायबिटीक दवाइयों पर निर्भरता को कम करने में भी सहायता करती है।

प्रयोग कैसे करें: बेहतर परिणाम के लिए नीम की कोमल पत्तियों के रस का खाली पेट सेवन करें।

3. कैंसर के उपचार में सहायक है (Neem is Good for Digestion)

नीम की पत्तियों से मिलने वाला एक प्रकार का शुद्ध प्रोटीन ट्यूमर कोशिकाओं के विकास को रोकता है। कैंसर कोशिकाओं पर सीधा प्रहार करने की बजाए यह प्रोटीन कैंसर रूपी वातावरण और रक्त में मौजूद प्रतिरोधक कोशिकाओं को सक्रिय करता है। इसके परिणामस्वरूप ट्यूमर की वृद्धि रूक जाती है, जिससे यह कैंसर के उपचार में महत्वपूर्ण भुमिका निभाता है।

प्रयोग कैसे करें: नीम औषधीय गुणों से भरपूर होता है इसलिए सुबह जल्दी नीम के रस का सेवन शरीर से विषैले पदार्थों को दूर करता है। यह न केवल कैंसर के उपचार में सहायता करता है बल्कि आपको कैंसर से बचाता भी है।

4. कवक संक्रमण (फंगल इंफेक्शन) दूर करता है (Neem for Fungal Infection)

फंगल इंफेक्शन के उपचार के लिए नीम के तेल का प्रयोग करें। क्योंकि नीम फंगस को नष्ट करने में मदद करता है। वैकल्पिक रूप से इन संक्रमणों को रोकने और इनका उपचार करने के लिए आप नीम की पत्तियों के पेस्ट का भी प्रयोग कर सकते है।

प्रयोग कैसे करें: प्रभावी परिणाम के लिए दिन में तीन बार नीम के तेल की कुछ बुंदे संक्रमित नाखून पर लगाएं।

5. सिर की जूंओं के उपचार के लिए (Neem for for Head Lice)

नीम का तेल सिर की जूंओं को मारने के लिए प्रयोग किया जा सकता है। इसलिए, यदि आपके बच्चें के सिर में जूंएँ है और आप केमिकल्स का उपयोग नहीं करना चाहते है तो बेहतर परिणाम के लिए इस प्राकृतिक औषधि का प्रयोग करें।

प्रयोग कैसे करें: थोड़ी कोमल नीम की पत्तियों को पीस लेवें और बालों को धोने के लिए इस रस का प्रयोग करें। इसके प्रभाव को बढ़ाने के लिए आप इसमें थोड़ी तुलसी की पत्तियाँ भी मिला सकते है।

6. मच्छरों को दूर भगाता है (Neem Prevents for Mosquito)

एक अध्ययन के अनुसार नीम के तेल और नारियल तेल (1:1) के मिश्रण को त्वचा पर लगाने से मच्छर दूर रहते है।

प्रयोग कैसे करें: एक छोटे चम्मच नीम के तेल को एक छोटे चम्मच नारियल तेल के साथ मिलाएं और मच्छरों के काटने से बचने के लिए इस मिश्रण को अपनी त्वचा पर लगाएं।

7. त्वचा संबंधी समस्याओं के लिए प्रभावी है (Neem for Skin Disease)

यदि आप मुँहासों, झुर्रियों, स्किन पिगमेंटेशन, ब्लेक हेड्स, सुखी त्वचा और अन्य त्वचा संबंधी संक्रमण से पीडि़त है तो एकमात्र औषधि है जो आपकी त्वचा संबंधी सभी समस्याओं के उपचार में सहायक है- नीम की पत्तियाँ।

प्रयोग कैसे करें: कुछ नीम की पत्तियों को तब तक उबालें जब तक पत्तियों के रंग छोड़ने के कारण पानी हरा नहीं हो जाएं। अब पानी को छान लें और विभिन्न त्वचा संबंधी समस्याओं से छूटकारा पाने के लिए अपने चेहरे को इस पानी से धोएं। वैकल्पिक रूप से आप त्वचा संबंधी संक्रमण को दूर रखने के लिए इस पानी को अपने नहाने के पानी में भी मिला सकते है।

8. हेपेटाइटिस के उपचार में सहायता करता है (Neem for Hepatitis)

इसके शक्तिशाली एंटी वायरल गुण के कारण नीम हेपेटाइटिस के उपचार में प्रयोग किया जाता है। यह शरीर से हानिकारक विषैले पदार्थों को दूर करता है जिससे लिवर पर विषैले पदार्थों का भार कम पड़ता है। इसके अतिरिक्त यह आपकी प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाता है जिससे आपकी हालत में जल्दी सुधार होता है।

प्रयोग कैसे करें: कोमल नीम की पत्तियों को धोकर इनसे रस निकाल लेवें। अब लगभग 30 मिली. इस रस को 15 मिली. शहद के साथ मिलाएं। हेपेटाइटिस के उपचार के लिए इस मिश्रण को सुबह जल्दी खाली पेट लगभग 7 दिन तक सेवन करें।

9. मुँह से संबंधित समस्याओं को दूर करता है (Neem Removes the problems Relates to mouth)

ग्रामीण भारत के अनेक हिस्सों में आज भी दाँतों को साफ करने के लिए टूथपेस्ट और ब्रश की बजाए नीम की टहनियों का उपयोग किया जाता है। मसूड़ों की बिमारियों, दाँतों के दर्द, खराब सांस और मुँह के अल्सर की रोकथाम में नीम महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है।

प्रयोग कैसे करें: एक मध्यम आकार की नीम की टहनी लेवें और इसे एक सिरे से चबाकर ब्रश बना लेवें। विभिन्न मुँह संबंधी समस्याओं की रोकथाम के लिए अब इस ब्रश से अपने दाँतों को साफ करें और मुँह को पानी से धो लेवें।

10. अमीबियासिस के लक्षणों को दूर करता है (Neem Removes Symptoms of Amibiasis)

नीम की पत्तियाँ इसके एंटीबायोटिक गुण के कारण अमीबियासिस परजीवी के विरूद्ध एक प्रभावी प्राकृतिक औषधि की तरह कार्य करती है।

प्रयोग कैसे करें: बारीक पाउडर बनाने के लिए नीम की पत्तियों को पीस लेवें और इसमें समान मात्रा में हल्दी पाउडर मिलाएं। अब इसमें सरसों का तेल मिलाकर पेस्ट बनाएं। अमीबियासिस के लक्षणों को दूर करने के लिए इस पेस्ट को पेट वाले भाग पर लगाएं।

You may also like

Mulethi Benefits In Hindi

Shatavari Benefits in Hindi

Benefits of Spices and Herbs in Hindi

Benefits of Rose in Hindi

Tulsi Benefits in Hindi

Benefits of Ginger in Hindi

Chirata benefits

kutki benefits

safed musli benefits

Pipli Benefits in Hindi

Fenugreek Benefits in Hindi

Neem Benefits in Hindi

Benefits of Mint Leaves in Hindi

Sarpagandha Benefits in Hindi

Mint Benefits in Hindi

Heath Benefits of Carom Seeds in Hindi

Benefits of Aloevera in Hindi

Benefits of Methi in Hindi

Benefits of Madars Extract in Hindi

Benefits Of Neem Oil In Hindi

Benefits of Basil Ginger Clove in Hindi