क्या है ट्राइग्लिसराइड के स्वास्थ्य प्रभाव

Effects of Triglyceride in Hindi

आमतौर पर ट्राइग्लिसराइड का सामान्य स्तर स्वास्थ्य के लिए अच्छा होता है क्योंकि ये हमारे शरीर के द्वारा ऊर्जा के रूप में उपयोग होते है लेकिन ज्यादा कैलोरी युक्त खाद्य पदार्थों के सेवन से हमारे शरीर में ट्राइग्लिसराइड का स्तर बढ़ता है और यह हृदय रोग और मेटाबॉलिक सिंड्रोम के खतरे को बढ़ाता है। सामान्यतया ट्राइग्लिसराइड के स्तर का पता कोलेस्ट्रॉल  के लिए किए जाने वाले ब्लड टेस्ट से चल जाता है। Read Effects of Triglyceride in Hindi (Triglyceride ke Effects).

Triglycerides ka Swasth par prabhav in Hindi

ट्राइग्लिसराइड के स्तर (Triglyceride Level)

  • सामान्य 100 mg/dl से कम
  • मध्यम-उच्च 100 mg/dl से 199 mg/dl
  • उच्च 200 mg/dl

Effects of Triglyceride in Hindi

ट्राइग्लिसराइड का स्वास्थ्य पर प्रभाव (Triglyceride ke Effects)

ट्राइग्लिसराइड के स्वास्थ्य पर कई प्रभाव पड़ते है। यदि ट्राइग्लिसराइड का स्तर मध्यम से ज्यादा हो तो हमें कई रोग होने का खतरा बढ़ जायेगा।

1. हृदय रोग (Triglyceride Effect on Heart)

जैसी ही हमारे खुन में ट्राइग्लिसराइड का स्तर बढ़ता है, यह रक्त कोशिकाओं की दीवारों के ऊपर एक परत बना देता है जिसके परिणामस्वरूप पुरे शरीर में रक्त का प्रवाह ठीक से नहीं हो पाता है। इस कारण हृदय की मांसपेशियों पर दबाव बढ़ता है क्योंकि यह लगातार रक्त को आवश्यकता से अधिक बल से पंप करता है।

इससे हमें हृदय रोग और स्ट्रोक का खतरा बढ़ जाता है।

2. डायबिटीज (Triglyceride Effect on Diabetes)

चीनी, ज्यादा कैलोरी युक्त खाद्य पदार्थ, कार्बोहाइड्रेट का सेवन जो आसानी से पच जाते है और खुन में ट्राइग्लिसराइड में बदल जाते है।

यदि ट्राइग्लिसराइड का स्तर 200mg/dl से ज्यादा बढ़ता है तो कमर का भाग शरीर के अन्य अंगों की तुलना में ज्यादा मोटा हो जाता है और यह डायबिटीज के खतरे को बढ़ाता है। यदि व्यक्ति को पहले से डायबिटीज है तो ट्राइग्लिसराइड का स्तर बढ़ना शुगर लेवल के नियंत्रण में नहीं होने का संकेत है। यह अनेक शारीरिक समस्याओं को पैदा करता है।

3. पैन्क्रीयाइटिस (Triglyceride Effect on Pancreas)

पैन्क्रीया, एक अंग है जो इंसुलिन, ग्लूकागन आदि हार्मोन्स स्त्रावित करता है जो मेटाबॉलिज्म और भोजन के पाचन के लिए उत्तरदायी होते है। पैन्क्रीयाइटिस इस अंग में सुजन की एक अवस्था है।

ऐसा इसलिए होता है क्योंकि जब भी रक्त में ट्राइग्लिसराइड का स्तर बढ़ता है रक्त कोशिकाएं अवरूद्ध हो जाती है और इस अवरोध को दुर करने के लिए पैन्क्रीया लाइपेस एन्जाइम के उत्पादन के लिए पैन्क्रीया की कोशिकाएं संख्या में बढ़ जाती है। इस कारण पैन्क्रीया का आकार बढ़ जाता है जिससे पैन्क्रीयाइटिस होता है।

4. अन्य ट्राइग्लिसराइड्स (Other Effects of Triglyceride on Health)

ट्राइग्लिसराइड्स का स्तर बढ़ने के कारण कई समस्याएँ जैसे आँखों की नसें प्रभावित होती है और इसका परिणाम अंधापन भी हो सकता है। इस दौरान हमें शरीर में कई जगहों जैसे घुटनों के जोड़, कोहनी आदि पर वसा की गांठे महसूस होती है। ये गांठे पीले रंग की हो सकती है।

You may also like

Symptoms of Heart Disease in Hindi

Green Vegetables for Heart in Hindi

Remedies for Healthy Heart in Hindi

Facts Related To Heart Disease In Hindi

Heart Disease Related Facts In Hindi

Healthy Heart Tips in Hindi

Prevention From Heart Blockage In Hindi

Heart Diseases In Females In Hindi

Tips For Healthy Heart In Hindi

Vegetables For Healthy Heart In Hindi

Olive Oil for Heart in Hindi

Benefits of Cinnamon for Heart in Hindi

Heart Disease Symptoms In Hindi

Women Heart Problems in Hindi

Cinnamon For Heart In Hindi

Heart Disease Facts in Hindi

Myths Related to Heart Health in Hindi

Remedies for Heart Blockage in Hindi

Secrets To Keep Heart Healthy In Hindi

Effects of Triglycerides in Hindi

Benefits of Peepal for Heart Blockage in Hindi