जानिए अकेलेपन के कारण

Causes of Isolation in Hindi

अध्ययन यह सिद्ध करते है कि अकेलेपन का कारण आनुवाशिंकता से संबंधित है किन्तु इसके अनेक बाहरी कारण भी है जिसके कारण अनेक लोगों में सामाजिक अकेलापन इतना अधिक बढ़ जाता है कि लोग अवसादग्रस्त होकर आत्म-हत्या भी कर लेते हैं। जानिए अकेलेपन के कारण। Read Causes of Isolation in Hindi (Kya Hote Hai Akelepan Ke Karan).

Akelepan Ke Karan

Causes of Isolation in Hindi

(Kya Hote Hai Akelepan Ke Karan)

  • एक व्यक्ति जिसे उसके परिवार तथा मित्रों ने ठुकरा दिया या उपेक्षित किया है। उसमे अवसाद तथा अकेलापन तेजी से बढ़ सकता है यह तब भी हो सकता है जब किसी ने मजाक उड़ाया हो।
  • शारीरिक अक्षमता तथा अत्यधिक अन्र्तमुखी, स्वभाव व्यक्तियों को यह सोचने पर मजबूर कर सकता है कि वह समाज या किसी समूह में घुलने-मिलने में असक्षम है। यद्यपि ये व्यक्ति जनसमूह या समाज में घुलने-मिलने की हर संभव कोशिश करते है । किन्तु वे उन बेडियो तथा बाधाओं को तोड़ने में समर्थ नहीं हो पाते, जो उन्हें समूह का हिस्सा बनाए।
  • वे व्यक्ति जो अत्यधिक संवेदनशील तथा भावात्मक होते है, यदि उनके जीवन में कोई ऐसी घटना जैसे तलाक या साथी से अलगाव हो जाएं।  तो इसका प्रभाव उनके मानसिक स्वास्थ्य पर गहरा होता है।
  • अपने जीवन साथी की death  तथा तलाक किसी भी व्यक्ति को अकेलेपन तथा अवसाद की ओर धकेल सकते हैं ।
  • अवसाद बढ़ती उम्र की सबसे सामान्य समस्या है। यह शारीरिक शक्ति व गति को खत्म करके उम्रदराज व्यक्ति के मानसिक स्वास्थ्य पर प्रभाव डालता है।
  • पुराने परम्परागत समय में बुर्जुग लोगों की सर्वोच्च स्थिति होती थी वे समाज की परम्पराओं तथा संस्कृति के रक्षक होते थे परन्तु आधुनिक समय में सब कुछ बदल गया है और बुर्जुग लोग हाशिए पर ढकेल दिए गए है। वे परिवार तथा पड़ोस दोनो ही में उपेक्षित किए जा रहे है। यही उपेक्षा उनमें अकेलापन और दुःख बढ़ा रही है।

You may also like