रोग और उपचार

Health in Hindi जवान और स्वस्थ रहने के लिए छोटे छोटे घरेलू नुस्खे आमतौर पर लोगो का मानना हैं कि मोटे होने का कारण …भोजन कम खाना

Tips For Avoiding Tiredness In Hindi

अच्छी सेहत के लिए पर्याप्त नींद लेना जरूरी होता है, लेकिन क्या आप जानते हैं कि जरूरत से ज्यादा नींद लेना सेहत को बिगाड़ भी सकता है। जी हां, ज्यादा नींद लेना सेहत के लिए हानिकारक हो सकता है। जानि‍ए ज्यादा नींद लेने के नुकसान। Jyada Sone ke Nuksaan in Hindi

Bad Effects of Oversleeping in HindiBad Effects of Oversleeping in Hindi

(Jyada Sone ke Nuksan)

डिप्रेशन (Depression due to Oversleeping)

पर्याप्त मात्रा से अधि‍क नींद लेना दिमाग को स्वस्थ रखने के बजाए आपको डि‍प्रेशन (depression) का शि‍कार बना सकता है। शोध में यह साबित हुआ है कि 7 घंटे से अधि‍क सोने वालों को मानसिक तनाव का खतरा ज्यादा होता है। इसके अलावा 9 घंटे से अधि‍क नींद लेने पर डिप्रेशन (depression) की संभावना 49 प्रतिशत बढ़ जाती है।

 

डायबिटीज (Diabetes due to Oversleeping)

एक शोध में यह साबित हुआ है कि जो लोग रोजाना आठ घंटे से ज्यादा नींद लेते हैं उन्हें डायबिटीज होने की संभावना उन लोगों की अपेक्षा में दुगुनी हो जाती है, जो आठ घंटे से कम नींद लेते हैं।

 

दिल की बीमारी (Heart Problem due to Oversleeping)

एक शोध इस बात का खुलासा करता है कि आठ घंटे या इससे अधि‍क नींद लेने वाले लोगों को कोरोनरी हार्ट डिसीज (Coronary heart disease) होने का खतरा दुगुना हो जाता है, बजाए उनके, जो आठ घंटे से कम नींद लेते हैं।

 

प्रेग्नेंसी (Effect of Oversleeping in Pregnancy)

एक शोध में यह बात सामने आई है कि आठ घंटे से ज्यादा नींद लेने वाली महिलाएं, जो 9 से 11 घंटे की नींद लेती हैं, उनके प्रेग्नेंट (pregnant) होने की संभावनाएं, आम महिलाओं जो 7 से 8 घंटे की नींद लेती हैं, उनकी तुलना में आधी हो जाती है।

 

दिमागी कमजोरी (Mental Weakness due to Oversleeping)

ज्यादा नींद लेना दिमाग को आराम देने के बजाए आपके दिमाग को कमजोर करता है और याददाश्त को कम करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है।

Image Source

 

Also Read

नींद नहीं आती है तो ये पौधे होंगे आपके लिए मददगार

अच्छी नींद के लिए गरम दूध है फायदेमंद

अच्छी नींद ले कर वजन कम करे

हमे नींद की जरूरत क्यों होती है

 

हमको आशा है के आपको हमारा ये पोस्ट Jyada Sone ke Nuksan पसंद आया।
अपनी प्रतिक्रिया हमतक पोहुंचाय ।
धन्यवाद ।

Yogasana For Irregular Periods In Hindi

सर्दियों में मासिक धर्म अधि‍क तकलीफदेह हो सकता है। इन दिनों में ठंड के कारण सूजन और पहले से ज्यादा दर्द और ऐंठन की समस्या होना स्वभाविक है। इन समस्याओं से बचने के लिए यह विशेष उपाय आपके लिए काफी मददगार होंगे। जानिए कौन से हैं वे उपाय। Read  – Period pain relief home remedies in hindi, immediate period pain relief in hindi, stomach pain during periods reasons in hindi, how to ease period pain naturally, period pain relief tips

Tips for Periods in Winters in HindiTips for Periods in Hindi

(Periods ke Liye Tips)

1. सर्दी के दिनों में ठंड के कारण पेट में दर्द की समस्या अधि‍क होती है और कभी-कभी स्त्राव (secretion) भी ठीक से नहीं होता। इसके लिए मासिक धर्म की शुरुआत में ही गर्म पानी पीना या फिर अन्य गर्म पेय पदार्थ का सेवन सबसे अच्छा उपाय है। इससे दर्द में तुरंत आराम होगा और स्त्राव (secretion) भी ठीक होगा।

2. ठंड के कारण इन दिनों में  चेहरे और शरीर के बाकी हिस्सो पर अंगों में सूजन जैसी समस्या भी हो जाती है। इसके लिए शरीर को गर्म बनाए रखना बहुत जरूरी है। ऐसे में नहाने के लिए गर्म पानी का इस्तेमाल और ठंडी चीजों से बचना फायदेमंद रहेगा।

3. पेट पर गर्म पानी की थैली या bottle रखकर सिकाई करने से दर्द तुरंत कम हो सकता है। अदरक वाली चाय का सेवन काफी फायदेमंद होगा। साथ ही दिन में दो से तीन बार Green tea पीना भी काफी लाभ देगा। इससे प्रतिरोधक क्षमता (immunity) भी बढ़ेगी और शरीर में नमी व तरलता भी बनी रहेगी।

4. महिलाओ को इन दिनों में कई बार चिड़चिड़ाहट के साथ खान-पीन में भी रूचि नहीं होती है, लेकिन इस समय खान-पान पर विशेष ध्यान देना चाहिए। खाली पेट बिल्कुल भी न रहें, इससे पेट में गैस बनेगी जो अधि‍क तकलीफदेह हो सकती है।

5. पेट में गैस पैदा करने वाली चीजों से दूर रहें और हल्का व पौष्ट‍िक भोजन लें। जितना हो सके अधि‍क पानी पिएं जिससे शरीर के सारे हानिकारक तत्व बाहर निकल सकें। हल्का फुल्का व्यायाम कर सकती हैं। इसके अलावा aroma therapy आपकी चिड़चिड़ाहट कम होकर मूड ठीक रहेगा।

Image Source

क्या सही होता है पीरियड्स के दौरान सेक्स करना

पीरियड्स के दौरान कौन सी एक्सरसाइज करें

पीरियड्स से जुडी कुछ तकलीफो के बारे में जाने

Hygiene Tips सभी लड़कियों एवं महिलाओं के लिए

 

हमको आशा है के आपको हमारा ये पोस्ट Periods ke Liye Tips in Hindiपसंद आया।
अपनी प्रतिक्रिया हमतक पोहुंचाय ।
धन्यवाद ।

Ways To Apply Body Spray In Hindi

हर दिन घर से निकलने के पहले क्या आप भी Perfume या Deodorant का इस्मेमाल करते हैं ? यदि हां, तो आपको इनके प्रति सतर्क रहने की आवश्यकता है। प्रतिदिन त्वचा पर इस्तेमाल किए जाने वाले Perfume या Deodorant, आपकी त्वचा और सेहत को बिगाड़ भी सकते हैं। अगर आप नहीं जानते इनसे होने वाले नुकसान, तो जरूर जानिए। Read Perfume side effects in Hindi

Bad Effects of Perfume and Deodorant in Hindi

(Perfume and Deodorant ke Bure Prabhav)

  • रोजाना आपके द्वारा इस्तेमाल किए जाने वाले Deodorant या Perfume में हानिकारक chemical मौजूद होते हैं, जो त्वचा में जलन पैदा कर उसे बुरी तरह से क्षतिग्रस्त करते हैं। यह त्वचा में खुजली पैदा कर उसे हानि पहुंचाते हैं।
  • कई बार इनमें मौजूद Neurotoxin केंद्रीय तंत्रिका तंत्र को प्रभावित करते है। कई बार इनके कारण त्वचा में घाव या अजीब तरह के निशान बन जाते हैं जिनमें bacteria पनप सकते हैं।
  • इनमें मौजूद कुछ chemical सेहत को बिगाड़कर, hormones में असंतुलन पैदा कर सकते हैं। Hormonal imbalance का प्रभाव न केवल आपकी सेहत पर बल्कि आपके सौंदर्य पर भी पड़ता है। इसके अलावा महिलाओं में Deodorant या Perfume का प्रयोग मासि‍क धर्म संबंधी समस्याओं को जन्म दे सकता है ।
  • कुछ Deodorant या Perfume पसीने को रोकने का कार्य भी करते हैं। इस प्रकार के उत्पाद में मौजूद chemical बेहद खतरनाक होते हैं। शरीर में से पसीना न निकलने के कारण कई हानिकारक व अवांछित तत्व बाहर नहीं निकल पाते है, जो सेहत के लिहाज से बेहद हानिकारक साबित होते हैं।
  • Deodorant में मौजूद chemical आपको Alzheimer दे सकते हैं। इसके अलावा सांस संबंधी समस्याएं पैदा करने में यह chemical सहायक साबित होते हैं। अत्यधि‍क तेज गंध होने के कारण यह नाक के तंतुओं को भी क्षतिग्रस्त कर सकते हैं ।
Image Source

एक महीने में करे वजन कम

 

हमको आशा है के आपको हमारा ये पोस्ट Perfume Side Effects in Hindi पसंद आया।
अपनी प्रतिक्रिया हमतक पोहुंचाय ।
धन्यवाद ।

Causes of Dry Skin in Winters in Hindi

सर्दियों में त्वचा का रूखा और बेजान होना, कई बार त्वचा की परतों के निकलने का कारण बनता है। इससे बचने के लिए त्वचा की विशेष देखभाल की जरूरत होती है। जानिए कौन से उपाय आपकी त्वचा को निकलने से बचाएंगे। Read about Rukhi twacha ka ilaj Dry Skin Hindi Tips

Dry Skin Hindi Tips

Rukhi twacha ka ilaj Dry Skin Hindi Tips

(Winter Skin Tips in Hindi)

  • अगर आपकी त्वचा सर्दियों में रूखी अैर बेजान हो जाती है और उसकी परतें निकलने लग जाती है तो पहले scrub की सहायता से मृत त्वचा (dead skin) को हटाएं, इससे आपकी त्वचा साफ हो जाएगी और फिर आप त्वचा को अच्छी तरह से चिकनाईप्रदान करें।
  • घी पुराने जमाने का सबसे बेहतरीन उपाय है जो त्वचा को चिकना और नमीयुक्त बनाए रखता है। रात को सोते समय अंगुलि‍यों के पोरों से त्वचा पर घी लगाएं और तब तक massage करें, जब तक त्वचा इसे पूरी तरह से सोख न ले। सुबह आप नर्म, मुलायम और चिकनी त्वचा पाएंगे।
  • Petroleum jelly (Vaseline) त्वचा को जरूरीचिकनाई देने में मदद करती है। इसे लगाने के बाद त्वचा का रूखापन कम हो जाता है और त्वचा निकलनी बंद हो जाती है। आप घर पर भी petroleum jelly बना सकते हैं।
  • नारियल तेल (coconut oil) भी त्वचा के लिए एक बढ़ि‍या विकल्प है। रात को सोने से पहले और सुबह नहाने के तुरंत बाद नारियल तेल (coconut oil) से massage करें। इससे त्वचा में आसानी से चिकनाई पहुंचेगी और रूखी त्वचा में बेहद लाभ मिलेगा।
  • भरपूर मात्रा में पानी पीने से भी इस समस्या से आपको निजात मिले सकता है। शरीर में अगर नमी बनी रहेगी तो त्वचा में रूखापन नहीं आएगा और त्वचा का निकलना भी कम हो जाएगा। इसके अलावा आप फलों या जूस का भी सेवन कर सकते हैं।
Image Source

सूखी त्वचा के लिए घरेलू उपचार

ऐसे रखे त्वचा को स्वस्थ

ऐसे रखे त्वचा को स्वस्थ

नारियल तेल खाने और लगाने के फायदे

 

हमको आशा है के आपको हमारा ये पोस्ट Rukhi twacha ka ilaj Dry Skin Hindi Tips पसंद आया।
अपनी प्रतिक्रिया हमतक पोहुंचाय ।
धन्यवाद ।

Ear cleaning Tips in Hindi

कान में मैल जमना कोई असामान्य बात नहीं है। हम सभी के साथ ऐसा होता है और समय-समय पर कान की सफाई करना भी बेहद जरूरी है। सही सफाई न होने पर कान में दर्द, खुजली, जलन या बहरापन जैसी समस्याएं हो सकती है। आइये जानते है कि कैसे की जाए कान की सफाई। Read Kaan dard ka ilaj Ear pain treatment in hindi

        Kaan dard ka ilaj Ear pain treatment in hind

Ear pain ka ilaj

 

गरम पानी (Warm Water for Ear Pain in Hindi)

पानी को हल्का-सा गुनगुना करें और रूई की सहायता से कान के अंदर डालें। कुछ समय तक इसे कान में ऐसे ही रहने दें और कुछ सेकंड बाद इसे कान से उलटकर पानी को बाहर निकाल दें। यह कान की सफाई का सबसे आसान तरीका है।

हाइड्रोजन पराक्साइड (Hydrogen Peroxide for Ear Pain in Hindi)

बेहद कम मात्रा में हाइड्रोजन पराक्साइड (hydrogen peroxide) को पानी में घोलकर, कान में डालें। अब बचे हुए घोल को कान को उलटकर कान से बाहर निकाल दें। यह तरीका कान की सफाई के लिए काफी प्रयोग में लिया जाता है।

तेल (Oil for Ear Pain in Hindi)

मूंगफली, जैतून या सरसों के तेल में थोड़ा सा लहसुन डालकर तड़का लें। अब तेल का गुनगुना गरम रह जाने पर रूई की सहायता से कान में डालें और ढंक लें। ऐसा करने से कान का मैल असानी से बाहर आ जाता है।

प्याज का रस (Onion Juice for Ear Pain in Hindi)

प्याज को भाप में पकाकर या भूनकर, इसका रस निकाल लें। अब  इस प्याज के रस की कुछ बुँदे droper या रूई की सहायता से कान के अंदर डालें। इससे कान में जमा मैल आसानी से बाहर आ जाएगा।

नमक का पानी (Salt for Ear Pain in Hindi)

गरम पानी में नमक मिलाकर इसका घोल तैयार करें। अब इस घोल की कुछ बूंदे रूई की सहायता से कान में डालें और बाद में कान को उलटकर बाहर निकाल लें। लेकिन ध्यान रहे कि कान में दर्द या कोई खरोंच व घाव होने पर यह तरीका न अपनाएं।

 

आशा है आपको ये पोस्ट Kaan dard ka ilaj Ear pain treatment in hindi पसंद आया. अपने comments हमें ज़रूर दे

 

किशमिश और दूध का Heart Tonic!!

Nose Bleeding के लिए इन उपचारो को भी अपनाए

नाक बंद हो जाए, तो यह तरीके आजमाएं

नाक से खून बहने पर करें यह घरेलू उपचार

Remedies for Insomnia in Hindi

आज कल की बदलती जीवनशैली के चलते नींद न आने की समस्या बहुत आम हो गयी है, जो हमारे सेहत के साथ-साथ पूरी जिंदगी को प्रभावित करती है। इसके इलाज के लिए कई तरह के बदलाव के साथ-साथ लोग लाखों रूपए खर्च कर देते हैं, लेकिन फिर भी नतीजा कुछ नहीं निकलता है। अगर आप भी उन लोगों में से हैं, तो यह लेख आपके लिए ही है। Read Insomnia neend na ane ke gharelu upay home remedies

 

Remedies for Insomnia in Hindi

(Neend Na Ane ka Upchar) neend na aane ke tips in hindi

Insomnia neend na ane ke gharelu upay homeremedies

सामान्यत: बहुत से लोग इस बात को नहीं जानते है, कि आपके कमरे में आने वाली वायु की गुणवत्ता, आपकी नींद और उससे जुड़े सेहत के अन्य पहलुओं को बहुत  प्रभावित करती है। वायु के साथ उसमें मौजूद कण कई तरह की समस्याओं का कारण हो सकते हैं। इसलिए घर में ताजातरीन वायु का होना बहुत जरूरी है। घर के अंदर रखे कुछ पौधे इन समस्याओं को दूर करने में आपकी मदद करेंगे।

टिंडौरी बेल (Tindori Bel for Insomnia in Hindi)

सब्जी के रूप में प्रयोग की जाने वाली टिंडौरी का पौधा (बेल) सबसे बेहतर वायु शोधक के रूप में जाना जाता है। शोध के अनुसार यह वायु को 94 % तक शुद्ध करने का काम करता है। यह खास तौर से रात के समय अस्थमा या सांस संबंधी समस्याओं में काफी लाभदायक होता है और आरामदायक नींद के लिए यह बेहतरीन है।

एलोवेरा (Aloevera for Insomnia in Hindi)

एलोवेरा यानि ग्वारपाठे का पौधा घर में रखना केवल नींद के लिए ही नहीं बल्कि सेहत के लिए कई तरह से फायदेमंद है। एलोवेरा रात के समय oxygen का निष्कासन करता है जिसका सकारात्मक असर सेहत पर भी नजर आता है। यह अनिद्रा (sleeplessness) की बीमारी से बचाता है और बेहतर गुणवत्ता वाली नींद भी देता है।

चमेली (Jasmine for Insomnia in Hindi)

इस आकर्षक और खुशबूदार पौधे को घर में लगाने के अनगिनत फायदे हैं। यह न केवल आपके तनाव और बेचैनी को कम करता है बल्कि आपको बेहतरीन नींद भी देता है। यही नहीं, बेहतर नींद लेने के बाद आप खुद को तरोताज़ा, कफी सक्रिय और सतर्क भी महसूस करते हैं। मानसिक रोग होने की स्थि‍ति में यह बेमि‍साल साबित होता है।

Also Read  हमे नींद की जरूरत क्यों होती है

लैवेंडर (Lavender for Insomnia in Hindi)

अब तक आपने lavender oil या इससे जुड़े अन्य फायदों के बारे में सुना होगा, लेकिन इस पौधे को घर में लगाने के बाद आपको इसके कई फायदे मिल सकते हैं। यह वातावरण के साथ-साथ आपके मूड को भी सकारात्मक बनाए रखता है। इसके अलावा यह बेचैनी और तनाव को भी कम करता है, साथ ही बेहतर और आरामदायक नींद लेने में मदद करता है। रात में सोते समय बच्चों का रोना भी इससे कम होगा।

स्नेक प्लांट (Sarpgandha for Insomnia in Hindi)

यह पौधा केवल आपके घर की सजावट को बढ़ाने के लिए ही नहीं, बल्कि यह आपको बेहतर नींद भी देता है। यह वायु की शुद्धता को बनाए रखने के साथ साथ वातावरण को बेहतर बनाए रखने में मदद करता है।

यह पौधा सांस संबंधी तकलीफ, आंखों में होने वाली असहजता और सिरदर्द की समस्या को कम करने में मदद करता है और आपको सक्रिय बनाता है। अच्छी नींद ले कर वजन कम करे

Image Source

अच्छी नींद के लिए गरम दूध है फायदेमंद

आइये जानते है नींद लाने के सरल उपाय

निद्रा-विचरण (Sleep Walking) को रोकने की घरेलू चिकित्सा

घरेलु नुस्खे के लाभ – Home Remedies in Hindi

घरेलु नुस्खों से करे वजन कम

 

हमको आशा है के आपको हमारा ये पोस्ट Insomnia neend na ane ke gharelu upay homeremedies पसंद आया।
अपनी प्रतिक्रिया हमतक पोहुंचाय ।
धन्यवाद ।

Benefits of Peepal for Heart Blockage in Hindi

आयुर्वेद में प्रकृति के द्वारा हर समस्या का समाधान मौजूद है। हमारे आसपास प्रकृति में कई औषधियां छुपी हुई हैं, जिनके बारे में हम जानते ही नहीं है। हिंदू धर्म में पीपल के पेड़ को देवतुल्य मानकर उसकी पूजा की जाती है। लेकिन क्या आप जानते हैं, पीपल हृदय रोग के लिए वरदान है। Read Peepal ke fayde for Heart Blockage in Hindi (Benefits of peepal leaf for heart).


 Benefits of peepal leaf for heart

 peepal ke patte for heart pipal ke patte ka upyog

Peepal ke fayde for Heart Blockage in Hindi

दिल के आकार के इस पत्ते में हृदय संबंधी समस्याओं का हल छुपा हुआ है। सबसे खास बात यह है, कि पीपल दिल के 99 % blockage को भी समाप्त करता है। आइए जानते हैं हृदय से जुड़ी समस्या में कैसे करें पीपल का प्रयोग।

ह्दय संबंधी समस्याओ या heart attack हो जाने की स्थि‍ति में पीपल के पत्तों का काढ़ा बेहद लाभकारी सिद्ध होता है। आइए जानते हैं, इसे बनाने और पीने का तरीका।

  • सबसे पहले, 15 पीपल के पत्ते जो हरे, आकार में बड़े और पूरी तरह से विकसित हो उसे तोड़ लें।
  • इन सभी पत्तों के ऊपर व नीचे के भाग को कैंची से काटकर अलग कर दें।
  • अब पानी से पत्तों को धो लें और लगभग एक गिलास पानी में पत्तों को धीमी आंच पर पकाएं।
  • जब पानी उबलकर एक-तिहाई रह जाए, तब उसे ठंडा करके छान लें और fridge या अन्य किसी ठंडे स्थान पर रख दें।

 

कैसे करें सेवन (How to Have Peepal for Heart Disease) 

इस पानी को तीन भागों में बांट लें और हर तीन घंटे में इसका सेवन करें।

इस दवा का रोज़ सेवन करने से heart attack के बाद भी हृदय पहले की तरह स्वस्थ हो जाएगा और दोबारा दिल के दौरे की संभावना भी खत्म हो जाएगी। हृदय रोगियों के लिए यह एक अच्छा, सरल और सुलभ उपाय है, जिससे दिल के सभी प्रकार के रोग ठीक हो जाते हैं। इस काढ़े के सेवन से दिल मजबूत होता है और आप बेहद ठंडक और शांति महसूस करते हैं।

Image Source

कैसे बचे हार्ट ब्लॉकेज से

महिलायें रखे अपने दिल का ख्याल

चाय पीने के होते है कई नुकसान आइये जानते है

 

हमको आशा है के आपको हमारा ये पोस्ट Peepal ke fayde for Heart Blockage in Hindi पसंद आया।
अपनी प्रतिक्रिया हमतक पोहुंचाय ।
धन्यवाद ।

Remedies For Leucoderma In Hindi

शरीर के किसी भी अंग में त्वचा पर सफेद धब्बे होना, जिन्हें आम भाषा में सफेद दाग कहा जाता है। इन सफ़ेद धब्बो को जटि‍ल समस्या माना जाता है जो आसानी से ठीक नहीं होती है। इसके लिए Doctors अलग-अलग कारणों को जिम्मेदार बताते हैं, जिनमें melanin बनाने वाली कोशि‍काओं पर प्रतिरोधकता का प्रभाव, पराबैंगनी किरणों का प्रभाव, vitamin B 12 की कमी, अत्यधि‍क तनाव, अनुवांशि‍कता, त्वचा पर किसी प्रकार का infection होना आदि। कुछ घरेलू प्रयोग आपकी त्वचा की इस असमानता को मिटाने में मदद कर सकते हैं। Read Safed daag ka ilaj Vitiligo treatment in hindi

 

77396789d5b8513ed6f91da872c12b3a

Safed daag ka ilaj Vitiligo treatment in hindi

Safed Daag ka Gharelu Upchar

तांबा (Copper for Vitiligo in Hindi)

तांबा (copper) तत्व, त्वचा में melanin के निर्माण के लिए बेहद आवश्यक है। रात में तांबे (copper) के बर्तन में पानी भरकर रखें और सुबह खाली पेट इस पानी को पिएं। बरसों पुराना यह तरीका melanin निर्माण में सहायक है।

नारियल तेल (Safed daag ke liye nariyal ka tel)

यह त्वचा को पुन: वर्णकता (Pigmentation) प्रदान करने में सहायक है साथ ही त्वचा के लि‍ए भी बेहतर है। इसमें antibacterial और infection विरोधी गुण भी पाए जाते हैं। दिन में 2 से 3 बार प्रभावित त्वचा पर नारियल तेल (coconut oil) से massage करना फायदेमंद हो सकता है।

हल्दी ( Haldi for vitiligo in Hindi

सरसों के तेल (mustard oil) के साथ हल्दी पाउडर (turmeric powder) का लेप बनाकर लगाना फायदेमंद है। इसके लिए 1 कप या लगभग 250 ml सरसों के तेल (mustard oil) में 5 बड़े चम्मच हल्दी पाउडर (turmeric powder) डालकर मिलाएं। दिन में दो बार इस लेप को प्रभावित त्वचा पर लगाएं। 1 साल तक लगातार इस लेप का प्रयोग करें। इसके अलावा आप हल्दी पाउडर (turmeric powder) और नीम की पत्ति‍यों के लेप का प्रयोग भी कर सकते हैं।

नीम (Neem for Vitiigo Safed daag ka ilaj in Hindi )

नीम एक बेहतरीन रक्तशोधक (antiscorbeti) और infection विरोधी तत्वों से भरपूर औषधि‍ है। छाछ के साथ नीम के पत्त‍ियों को पीसकर इसका लेप बना लें। इस लपे को त्वचा पर लगाएं और फिर पूरी तरह से सुख जाने पर इसे धो लें। इसके अलावा आप नीम के तेल का प्रयोग और नीम के जूस का सेवन भी कर सकते हैं।

लाल मिट्टी (Red Mud for )

लाल मिट्टी में प्रचुर मात्रा में तांबा (copper) पाया जाता है, जो melanin के निर्माण और त्वचा के रंग का पुन: निर्माण करने में मददगार है। लाल मिट्टी को अदरक के रस के साथ मिलाकर भी प्रभावित स्थान पर लगाए, यह बहुत फायदेमंद होगा।

अदरक (Ginger for Vitiligo in Hindi)

रक्तसंचार (blood circulation) को बेहतर बनाने और melanin के निर्माण में अदरक काफी फायदेमंद है। पानी में अदरक के रस को मिलाकर पिएं और प्रभावित त्वचा पर लगाएं।

सेब का सिरका (Apple Cider Vinegar for vitiligo Safed daag ka ilaj in Hindi)

सेब के सिरके को पानी के साथ mix करके प्रभावित त्वचा पर लगाएं। 1 गिलास पानी में 1 चम्मच सेब का सिरका (apple cider vinegar) मिलाकर पीना भी फायदेमंद होगा।

Image Source

ये भी पढ़े

किस बीमारी में कौन सा रस पिए

त्वचा में कोलेजन बढ़ाने के लिए डाइट

विटामिन B12 के स्वास्थ्य लाभ

 

हमको आशा है के आपको हमारा ये पोस्ट Safed daag ka Ilaj vitiligo treatment in Hindi पसंद आया।
अपनी प्रतिक्रिया हमतक पोहुंचाय ।
धन्यवाद ।

How to Straighten Hair Naturally in Hindi

रसोई में मिलने वाले बीज बालों की अच्छे से देखभाल करते हैं। बालों को सही प्रकार से रखने के लिए ये एक सही माध्यम हैं। अगर रोज़ाना आप बालों की समस्याएं का सामना कर रहे हैं तो ये बीज आपके लिए काफी फायदेमंद हैं। ये प्राकृतिक उपाय बालों के स्वास्थ्य और बढ़त में बड़ी भूमिका निभाते हैं। Read about Balo ko Lamba karne ke Upay hair growth tips

Hair Care Tips with Kitchen Seeds

  Homemade hair Care tips in Hindi –

Balo ko Lamba karne ke Upay hair growth

Long hair Care Tips in Hindi

 

मेथी के बीज (Methi Tips for Hair Balo ko Lamba karne ke Upay in Hindi)

मेथी के बीज (fenugreek seeds) अच्छे से बालों की देखभाल करने के लिए जाने जाते हैं। मेथी के बीज (fenugreek seeds) का बालों पर उपचार सबसे सस्ते तरीकों में से एक है। इसकी गुणवत्ता बढ़ाने के लिए इसे बालों के pack में मिलाएं। 3 चम्मच मेथी के बीजों (fenugreek seeds) को पर्याप्त मात्रा के पानी में मिलाएं और इसे 8 से 10 घंटे के लिए छोड़ दें। इन्हें पीसकर एक paste बनाएं। इस paste को अपने सिर और बालों में लगाएं। इस pack से बाल मज़बूत होते हैं और बालों के झड़ने की समस्या से मुक्ति मिलती है। आप भी जानिये मेथी के अनगिनत फायदे

तिल के बीज ( Til for Hair Balo ko Lamba karne ke Upay in Hindi)

उम्र बढ़ने के साथ साथ ही हमारे बाल भी सफ़ेद होने लगते हैं, पर इस प्रक्रिया को धीमा करने में तिल के बीज (sesame seeds) काफी महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं। 1 महीने तक रोज़ 1 चम्मच तिल के बीजों का सेवन करें और फर्क देखें। इसके अलावा इन्हें बालों के pack में भी डाल सकते हैं, या फिर इससे अलग से बालों का pack भी बना सकते हैं।

नीम (Neem for Hair in Hindi Balo ko Lamba karne ke Upay)

कड़वे नीम में कई औषधीय गुण होते हैं। नीम के बीज का तेल बालों की देखभाल का एक तरीका है और इससे आपको स्वस्थ और घने बाल मिलेंगे। बाल घने करने के लिए नीम के बीज के तेल को वनस्पति तेल जैसे नारियल तेल (coconut oil) और सरसों के तेल के साथ मिलाएं और सिर पर इसकी अच्छे से मालिश करें। इसे 1 से 2 घंटों के लिए लगा कर छोड़ दें और फिर गुनगुने पानी से धो लें। इससे आपके बाल स्वस्थ और घने बनेंगे। जानिए कड़वी नीम के बेहतरीन मीठे फायदे

अनार के बीज (Pomegranate seeds for Hair Balo ko Lamba karne ke Upay)

अनार के बेहतरीन स्वाद से हम सब परिचित हैं, पर कम ही लोग जानते है की यह बालो के लिए कितने फायदेमंद हैं। अनार के बीज बालों को पोषण देते हैं तथा सर की खुजली और सूखेपन से बचाते हैं। आप रूखे, सूखे बालों के लिए प्राकृतिक hair pack द्वारा इसके रस का प्रयोग कर सकते हैं, या अच्छे परिणामों के लिए इसे बादाम या जोजोबा के तेल के साथ मिला कर लगाए।

करौंदे के बीज (Cranberry seeds for Hair Balo ko Lamba karne ke Upay)

करौंदे के बीज (cranberry seeds) बालों की देखभाल में प्रमुख भूमिका निभाते हैं। करौंदे के बीज (cranberry seeds) के तेल को उँगलियों पर लेकर सिर पर अच्छे से मालिश करें। यह बालों को पोषण दें कर इसे सूखेपन से मुक्त करने का एक काफी प्रभावी तरीका है। इस तेल को गर्म करके भी इसका फायदा उठाया जा सकता हैं।

लौकी के बीज (Grape seed oil for Hair Balo ko Lamba karne ke Upay)

लौकी के बीज protein से भरे होते हैं और इनमें minerals की मात्रा भी काफी अधिक होती है। इस वजह से ये बीज बालों के लिए काफी अच्छे होते हैं। इस बीज का प्रयोग करना शुरू करने पर आपको बाल झड़ने की समस्या में कमी आती दिखना शुरू हो जाएगा। इस बीज के इस्तेमाल से मर्द Prostatic Hyperplasia की स्थिति से भी बच सकते हैं।

BPH और बालों का झड़ना (Bottle Gourd seeds for BPH and hair loss)

जब आप dht (Dihydrotestosterone) के शिकार है तो ये दर्द काफी ज़्यादा बेचैनी पैदा करने वाला हो सकता है। इसके अंतर्गत मूत्रमार्ग के पास संकुचन (Contractions) उत्पन्न हो जाता है और मूत्र विसर्जन में परेशानी (दर्द) होती है। ये समस्या बूढ़े लोगों में आम होती है, इसलिए ये आवश्यक है कि आप लौकी के बीजों का सेवन करें। dht (Dihydrotestosterone) का सम्बन्ध सीधे बालों के झड़ने से है इसलिए लौकी के बीजों का प्रयोग करना आवश्यक है।

लौकी के बीजों द्वारा बालों की बढ़त (Bottle Gourd seeds for Hair Regrowth hair growth tips in hindi)

ये बीज बालों के दोबारा उगने में मदद करते हैं। अगर आप बालों के झड़ने की समस्या (hair fall) से परेशान हैं तो ये आपके लिए बेहतरीन विकल्प है। लौकी के बीज बालों को पूरा पोषण देते हैं। बाल बढाने के लिए इसका paste बनाकर एक बार सिर पर लगाए, ये अंदर तक चला जायेगा और रक्त में मिश्रित हो जायेगा। यह बालों की कोशिकाओं को खराब होने से रोकता है और बालों का झड़ना भी कम करना है। जानिए लौकी के बेहतरीन स्वास्थ लाभ

सिर की रक्षा (Bottle Gourd seeds to Protect the Scalp hair growth tips in hindi)

यह बीज बालों को पतला होने से बचाते हैं। बालों को बेजान और पतले होने के कई कारक होते है जैसे प्रदूषण, फ़ास्ट फ़ूड, दवाइयाँ, chemicals तथा कई और। इन सब समस्याओं से बचने के लिए बालों में लौकी के बीजों का paste लगाएं। इससे आपके बाल घने और मज़बूत बनेंगे। इसमें calcium तथा magnesium होता है जो सिर की रक्षा करते हैं और बाल झड़ने से रोकते हैं।

Image Source

 

आशा है आपको ये पोस्ट Balo ko Lamba karne ke Upay hair growth tips पसंद आया. अपने comments हमें ज़रूर दे

 

 

ये पढ़े

शकर के ये नुकसान

सरसों के साग के फायदे

आँखों की सुरक्षा के आसान और प्राकृतिक तरीके

जाने हेल्थी Nails के लिए टिप्स

 

 

Symptoms of High Blood Pressure in hindi

यदि आप अतिरिक्त कोलेस्ट्रॉल (cholesterol) के साथ-साथ उच्च रक्तचाप (high blood pressure) के भी मरीज हैं और आप एक साथ दोनों बीमारियों को दूर करना चाहते हैं तो यह दवा आपके लिए बहुत मददगार साबित होगी। इसमें पोटेशि‍यम (potassium) प्रचुर मात्रा में होने के साथ ही सोडि‍यम (sodium) की मात्रा काफी कम है, जो उच्च रक्तचाप (high blood pressure) के मरीजों के लिए काफी लाभदायक है। Read Blood Pressure Kam karne ke Upay reduce BP in hindi

Natural Remedy for BP in Hindi

High Blood Pressure Kam karne ke Tarike

Blood Pressure Kam karne ke Upay reduce BP in hindi

 

इतना ही नहीं यह शरीर से हानिकारक तत्वों को बाहर निकालकर आंतरिक अंगों की सफाई और कोलेस्ट्रॉल (cholesterol) के स्तर को नियंत्रित करने में भी महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है। इस दवा को घर पर बड़ी आसानी से बना सकते हैं। आइए जानते है की क्या है यह दवा और इसके अन्य फायदे।

ब्लड प्रेशर के लिए घरेलु दावा बनाने के लिए सामग्री (Ingredients to Make Natural Remedy for BP)

इसे बनाने के लिए आपको 1 नींबू, अजवाइन के पौधे की जड़ और पानी की जरूरत होगी।

ब्लड प्रेशर के लिए घरेलु दावा बनाने की विधि‍ (How to Make Natural Remedy for BP)

इसे बनाने के लिए पहले नींबू को धोकर slice के रूप में काट लें और अजवाइन की जड़ को पीस लें।

अब पिसे हुए इस paste को 1 डेसीलीटर पानी में मिलाएं और इसमें नींबू के slice डाल दें। लगभग 20 मिनट के लिए इस मिश्रण को धीमी आंच पर उबलने दें।

20 मिनट के बाद इस मिश्रण को आंच से उतार लें और कम से कम 6 घंटे या फिर रातभर के लिए ठंडा होने के लिए छोड़ दें और फिर सुबह खाली पेट इसे पिएं।

आप चाहें तो इस मिश्रण को दिन में 3 बार भी पी सकते हैं।

आप चाहें तो लगातार दो महीने तक इस जूस का सेवन करने के बाद जांच करा सकते हैं।

यह जूस आपके लिए बेशक बहुत फायदेमंद होगा।

Image Source

 

आशा है आपको ये पोस्ट Blood Pressure Kam karne ke Upay reduce BP in hindi पसंद आया. अपने comments हमें ज़रूर दे

 

 

सेंधा नमक के फायदे

हाई ब्लड प्रेशर के लक्षण- High Blood Pressure Ke lakshan

हाई ब्लड प्रेशर के लिए एरोबिक्स

हाई ब्लड प्रेशर के लिए फायदेमंद व्यायाम

 

Load More ...