Liver

Healthy Liver Ke Liye Diet

हमारी आधुनिक जीवनशैली के कारण तथा आहार संबंधित गलत आदतों के कारण (जंकफूड, शराब, तनाव, धूम्रपान) लिवर पर अत्यधिक दबाव पड़ता है। यहाँ कुछ हर्बल औषधियाँ दी गई है जो लिवर को लम्बे समय तक स्वस्थ बनाएं रखेगी। Read Liver Care Tips Hindi

Diet For Healthy Liver In Hindi

Liver Care Tips Hindi

(Healthy Liver Ke Liye Diet)

  • लीवर की खराबी को बिलकुल अनदेखा न करें। लीवर में खराबी होने से लीवर कैंसर, लीवर सिरोसिस, हेपेटाइटिस (इसमें A, B, C, D, E शामिल हैं), पीलिया जैसी गम्भीर समस्‍यायें हो सकती हैं।  लिवर को स्वस्थ कैसे रखें
  • अनियमित दिनचर्या और खानपान में लापरवाही ही लीवर की खराबी का कारण है।
  • अधिक मात्रा में शराब का सेवन भी लीवर को नुकसान पहुंचाता है। खाने में तेल और मसाले का अधिक प्रयोग करना, फास्‍ट फूड का अधिक सेवन करने से लीवर कमजोर होता है।
  • आँवला का प्रयोग आयुर्वेद में लिवर के उपचार में किया जाता है। वर्तमान रिसर्च के अनुसार आँवला में लिवर की रक्षा करने वाले अनेक तत्व होते है।

    नाक से खून बहने पर करें यह घरेलू उपचार

  • हल्दी लिवर के स्वास्थ्य को ठीक रखते है। हल्दी लेने का सबसे आसान तरीका यह है कि इसे आप अपने खान-पान में शामिल करें। आप नियमित रूप से हल्दी वाला दूध भी ले सकते है।
  • कुछ सब्जियाँ लिवर के लिए बहुत उपयोगी है। चुकन्दर, पत्ता गोभी, गाजर, ब्रोकली, प्याज, लहसुन आदि लिवर के स्वास्थ्य के लिए बहुत महत्वपूर्ण है।
Image Source

आयोडीन के लाभ

क्यों होता है सीने में दर्द

एक महीने में वजन घटाने के लिए टिप्स

दिल में ब्लॉकेज से बचने के तरीके

आशा है आपको ये पोस्ट Liver Care Tips Hindi पसंद आया होगा

Liver Failure In Hindi

लिवर हमारे शरीर का सबसे मुख्य अंग है पर आज कल लिवर की समस्या आम हो गयी है। किसी का लिवर सूजा हुआ हैं, किसी को पीलिया हैं, किसी को फैटी लिवर की समस्या हैं। Read about Liver Failure in Hindi (Liver Failure Kya Hota Hai).

Liver Failure Kya Hota Hai

Liver Failure In Hindi

(Liver Failure Kya Hota Hai)

लिवर हमारे शरीर का सबसे महत्वपूर्ण अंग है, यदि आपका लिवर ठीक से कार्य नहीं कर पा रहा है तो इसे समझे। लिवर की खराबी के लक्षणों को अनदेखा ना करे।

लिवर ख़राब होने के कारण (Causes of Liver Failure)

लिवर ख़राब होने का सबसे बड़ा कारण ज्यादा शराब पीना और ज्यादा तेल खाना हैं। लिवर की खराबी का कारण कई लोग जानते हैं पर लिवर जब खराब होना पर क्या क्या बदलाव होते हैं ये जानना जरुरी है। जो लोग सोचते हैं कि वे शराब नहीं पीते तो उनका लिवर खराब नहीं हो सकता तो वे बिल्कुल गलत सोचते हैं।

लिवर ख़राब होने के लक्षण (Symptoms of Liver Failure)

कोई भी बीमारी चेतावनी का संकेत दिये बगैर नहीं आती, इसलिये जानते है लिवर के ख़राब होने के लक्षणों को।

  • लिवर खराब होने पर त्वचा क्षतिग्रस्त होने लगती है और उस पर थकान दिखाने पडने लगती है आँखों के नीचे डार्क सर्कल्स पड़ने लगते है।
  • मुंह से गंदी बदबू आना लिवर का सही से कार्य नही कर पाने का संकेत है।
  • यदि त्वचा का रंग उड़ने लग गया है और उस पर सफेद रंग के धब्बे पड़ने लग गए हैं तो इसे लिवर स्पॉट कहा जाता है।
  • यदि आपकी मल या पेशाब रोज़ गहरे रंग का आने लगा है तो लिवर में कुछ गड़बड़ है।
  • यदि लिवर पर फैट जमा हुआ है और लिवर बड़ा हो गया है, तो फिर पानी भी हजम नहीं होगा।
  • यदि आंखों का सफेद भाग पीला होने लगे और नाखून पीले होने लगे तो आपको jaundice हो सकता है। इसका मतलब यह है कि आपका लिवर में इन्फेक्शन हो गया है।
  • लिवर के बड़ा हो जाने है से पेट में सूजन आ जाती है, जिसको हम मोटापा समझने की भूल कर बैठते हैं।

यदि मुंह में कड़वाहट आने लगे तो समझ जाए लिवर का पैदा किया हुआ एंजाइम, बाइल जूस (स्वाद में बहुत खराब होता है) मुंह तब पहुंच रहा है।

Image Source

Remedies Of Liver Disorder In Hindi

लीवर शरीर का एक ऐसा अंग जिसके महत्व से हम सभी परिचित है. लीवर में किसी तरह की थोड़ी-बहुत दिक्कत आने से न केवल शारिर परेशानियां खड़ी होती है बल्कि यह हमारे रोजनामचे कि जीवनशैली को प्रभावित कर देता है। आइये जानते है लिवर की बीमारियों का घरेलु उपचार। Read about remedies of Liver disorder in Hindi (Liver ki Beemariyo ka Gharelu Upchar).

Liver-Disease-620x350

Remedies Of Liver Disorder In Hindi

(Liver ki Beemariyo ka Gharelu Upchar)

  • रोगी को फलों का रस पीकर सप्ताह में 1-2 बार उपवास रखना चाहिए। उपवास के समय में रोगी को रोज एनिमा लेकर अपने पेट को साफ करना चाहिए। बंद करने के बाद भी फलों के रस का सेवन करते रहे। जैसे- मौसमी, संतरा, गाजर आंवला आदि का रस।
  • Liver के रोग होने पर रोगी को अधिक से अधिक आराम करना चाहिए।
  • रोगी के लिए हरी सब्जियों का रस बहुत लाभदायक है।
  • पीड़ित रोगी को सुबह उठते ही 2 से 4 गिलास पानी पीकर खुली हवा में टहलना चाहिए।
  • पीड़ित रोगी को भोजन हमेशा संतुलित ही करना चाहिए और अंकुरित अन्न का प्रयोग अधिक करना चाहिए।
  • Liver रोग से पीड़ित रोगी को कुछ दिनों तक पेट पर Liver की तरफ गीली पट्टी करनी चाहिए, परिणामस्वरूप Liver के रोग ठीक हो जाते हैं।
  • पीड़ित रोगी को गुनगुने पानी से स्नान या स्पंज करना चाहिए और हल्का व्यायाम करना चाहिए है। व्यायाम करते समय गहरी सांस लेनी चाहिए।
  • पीड़ित रोगी को कम से कम 7 दिनों तक सुबह नींबू तथा संतरे का रस पानी में मिलाकर पीना चाहिए और इसके साथ उपवास भी रखना चाहिए।
  • यदि रोगी के पेट में कब्ज बन रही हो तो कब्ज को दूर करने के लिए रात को सोते समय रोगी की कमर पर भीगी पट्टी बांधनी चाहिए।
  • Liver में सूजन आ जाने पर Liver वाले भाग पर आधे घण्टे तक गर्म-ठंडी सिंकाई करे।
  • इस रोग से पीड़ित रोगी को पैरों को गर्म पानी से धोना चाहिए। इससे Liver के रोग कुछ ही समय में ठीक हो जाता हैं।
  • इस रोग के कारण खुजली होने पर नारियल के तेल में नीबू का रस मिलाकर लगाये खुजली बंद हो जाती है।
Image Source

Remedies for Liver Problem in Hindi

हमारे शरीर के पाचन तंत्र में लिवर एक महत्वपूर्ण हिस्सा है। विभिन्न अंगों के कार्यों जैसे की ऊर्जा भंडारण, भोजन चयापचय, विषाक्त पदार्थों को बाहर निकलना, प्रतिरक्षा प्रणाली का समर्थन, डिटॉक्सीफिकेशन और रसायनों का उत्पादन शामिल हैं। कई चीजें जैसे दवाएं, वायरस, शराब लिवर और आनुवांशिक रोग को नुकसान पहुंचाने लगती है। लेकिन इन उपायों से आप अपने लिवर को बीमारियों से दूर और मजबूत बना सकते हैं। Read Remedies for Liver Problem in Hindi (Liver Ki Beemariyo Ka Upchar).

Liver Ki Beemariyo Ka Upchar

Remedies for Liver Problem in Hindi

(Liver Ki Beemariyo Ka Upchar)

  • सेब का सिरका से लिवर में मौजूद विषैले पदार्थ बाहर निकाल जाते है। सेब के सिरके को भोजन से 30 minute पहले पीने से शरीर की चर्बी घटती है। एक चम्मच सेब का सिरके को एक गिलास पानी में मिलाएं, या एक चम्मच शहद के साथ मिलाकर इस मिश्रण को दिन में 2 से 3 बार लें।

 

  • लिवर के स्वास्थ्य में सुधार करने के लिए हल्दी बहुत उपयोगी है। इसमें एंटीसेप्टिक गुण होते है और यह एंटीऑक्सीडेंट के रूप में कार्य करती है। इसकी रोगनिरोधन क्षमता हैपेटाइटिस B व C के वायरस को बढ़ने से रोकती है। रात को सोने से पहले थोड़ी सी हल्दी एक गिलास दूध में मिलाकर पिएं।

 

  • आंवले के सेवन से लिवर की कार्यशीलता को बनाये रखने में मदद मिलती है। लिवर को सुरक्षित रखने वाले सभी तत्व आंवला में मौजूद हैं। लिवर को स्वास्थ रखने के लिए दिन में 4-5 कच्चे आंवले खाए।

 

  • मुलेठी का इस्तेमाल लिवर की बीमारियों के इलाज के लिए किया जाता है। इसके उबलते पानी में मुलेठी की जड़ का पाउडर बनाकर डालें। फिर ठंड़ा होने पर छान कर इस चाय रुपी पानी को दिन में 1 या 2 बार पिएं।

 

  • लिवर की बीमारियों के लिए पपीता सबसे सुरक्षित प्राकृतिक उपचार है, विशेष रूप से लिवर सिरोसिस के लिए। रोज आधा चम्मच नींबू के रस में 2 चम्मच पपीता के रस को मिलाकर पिएं। पूरी तरह से निजात पाने के लिए इस मिश्रण का सेवन 3 से 4 सप्ताहों के लिए करे।

 

  • अखरोट और एवोकैडो को आहार में शामिल कर के लिवर की बीमारियों से बच सकते हैं। अखरोट और एवोकैडो में मौजूद तत्त्व लिवर में जमा विषैले पदार्थों को बाहर निकालकर सफाई करता है।

 

  • पत्तेदार सब्जियों और सेब में मौजूद पाचन तंत्र पेक्टिन में उपस्थित विषाक्त पदार्थों को बाहर निकाल कर लिवर की रक्षा करता है। हरी सब्जियां पित्त के प्रवाह को बढ़ाती हैं।

 

  • गाजर और पालक का रस का लिवर सिरोसिस के लिए लाभदायक घरेलू उपाय है। गाजर और पालक के रस को बराबर मिलाकर पिएं। लिवर की मरम्मत के लिए इस प्राकृतिक रस को रोज कम से कम 1 बार जरूर पिएं।
Image Source

Liver Problems in Hindi

Liver के रोग में Liver में सूजन आ जाती है। रोगी को पीलिया और Liver cirrhosis हो जाता है। Liver के रोग के कारण Liver सही तरीके से कार्य करना बंद कर देता है और कई प्रकार के रोग हो जाते हैं। Read about Liver Problems in Hindi (Liver Ki Beemariya).

Liver Ki Beemariya

Liver Problems in Hindi

(Liver Ki Beemariya)

Liver की सूजन (Liver Swelling)

यह एक संक्रामक रोग है। इस रोग में संक्रमण के कारण Liver में जहरीले पदार्थ जमा होने लगते हैं। इस तीव्र (तेज) रोग के कारण Liver की कार्य शक्ति कम हो जाती है और व्यक्ति को पीलिया तथा Liver cirrhosis हो जाता हैं।

Liver की सूजन के लक्षण (Symptoms of Liver Swelling)

  • रोगी को उल्टियां होने लगती हैं
  • रोगी के शरीर में कमजोरी आ जाती है
  • रोगी के सिर में दर्द होने लगता है।
  • रोगी के शरीर में दर्द होने लगता है
  • रोगी को बुखार आ जाता है

इस रोग के कारण किसी-किसी व्यक्ति को पीलिया भी हो जाता है।

पीलिया (Jaundice)

पीलिया, Liver तथा Gall Bladder में होने वाले कई रोगों का कारण है। पीलिया के लक्षण कुछ ही दिनों में दिखाई देने लगते हैं। इस को ठीक होने में लम्बा समय लग सकता है। जब शरीर में Liver से आंत की तरफ जाने वाले पित्ताशय मार्ग में कोई रुकावट उत्पन्न हो जाती है तो इस कारण से पीलिया रोग हो जाता है।

पीलिया के लक्षण (Symptoms of Jaundice)

  • आंखों का सफेद भाग भी पीला पड़ जाता है
  • इस रोग की शुरुआत में त्वचा पीली पड़ने से पहले त्वचा में खुजली होने लगती है।
  • पेशाब तथा मल भी पीला होने लगता है।
  • शरीर की त्वचा पीली पड़ जाती है

लिवर सिरोसिस (Liver Cirrhosis)

लिवर सिरोसिस शरीर में विषैले तत्वों के कारण होता है। यह रोग शरीर में पोषक तत्वों की कमी के कारण भी होता है। इस रोग की वजह से Liver की बहुत सी कोशिकाएं नष्ट हो जाती हैं।

लिवर सिरोसिस का लक्षण (Symptoms of Liver Problem)

  • अपच की समस्या हो जाती है
  • शुरुआत में पेट में गैस बनने लगती है
  • रोगी को कभी-कभी उल्टियां भी होने लगती हैं
  • रोगी का पेट फूल जाता है और सूजन आ जाती है।
  • उसका वजन कम होने लगता है
  • रोगी के पेट में कभी-कभी दर्द होने लगता है
  • रोगी की सांसों में से बदबू आने लगती है
  • रोगी के पेट पर रक्त की नलिकाएं बाहर दिखाई देने लगती हैं
  • रोगी की त्वचा पीली पड़ जाती है

Liver से सम्बन्धित रोग होने के कारण (Causes of Liver Problem)

  • कुपोषण तथा अप्राकृतिक पदार्थों का भोजन में उपयोग करने से हो जाता है।
  • चाय, कॉफी, शराब तथा अन्य उत्तेजक पदार्थों का अधिक के अधिक सेवन से होता हैं।
  • यह रोग तिल्ली के बढ़ जाने के कारण तथा Liver के कार्यों पर प्रभाव डालने वाले रोग रोगों के कारण भी हो जाता है।
  • पित्ताशय में होने वाले कई रोगों के कारण हो सकता है।
  • यह रोग शरीर में जीवाणुओं जो Liver के पास जमा हो जाते हैं और रोग उत्पन्न करते हैं उन के कारण भी हो सकता है ।
  • अधिक औषधियों के सेवन के कारण यह रोग हो सकता है।
Image Source

Remedies for Jaundice in Hindi

पीलिया एक ऐसा रोग है जो हेपेटाइटिस A या हेपेटाइटिस C की वायरस के कारण फैलता है। पीलिया शरीर के अनेक भागों को अपना शिकार बनाता है और शरीर को बहुत हानि पहुंचाता है। इस रोग में पाचन तंत्र सही ढंग से कार्य तक करना बंद कर देता है और शरीर का रंग पीला पड़ जाता है। इस रोग से बचने के लिए रोगी अनेक तरह के उपचार और एंटी बायोटिक का सहारा लेता है। जिससे उनके शरीर पर कुछ अन्य प्रभाव भी हो सकते है, यहाँ कुछ ऐसे घरेलू आयुर्वेदिक उपाय बता रह है जिनको अपनाकर आप पीलिया जैसी भयंकर रोग से तुरंत मुक्ति पा सकते है। इन उपायों का कोई साइड इफ़ेक्ट भी नही होता है। Read Home Remedies for Jaundice in Hindi (Peelia ka Gharelu Upchar).

Peelia ka Gharelu Upchar

Remedies for Jaundice in Hindi

(Peelia ka Gharelu Upchar)

एक पान के पत्ते पर चूना और कत्था लगाएं। अब इस पान के पत्ते पर अंक (अकौंना, मदार जामुनी फूल वाला) के दूध की 3-4 बूँद डाले और सुबह खा लें। इस उपाए को करने से पीलिया ठीक हो सकता है। यदि आँखे पीली हो रही हो तो 3 दिन तक यह पान खाए।

आक के पत्ते का दूध प्राप्त करने की विधि –

  1. सूर्योदय होने से पहले आक के पत्ते को तोड़ कर दूध निकाल लेना चाहिये ।
  2. आक का दूध आंखों के लिए हानिकारक होता है, यह दूध चिकना होता है।

सावधानी – पत्ते से दूध निकालते समय आँखों का बचाव करे, आंख पर गलती से भी आक का दूध नहीं लगना चाहिए।

  1. आक के पत्ते के पीछे सफेद रेशो को पोंछकर साफ कर लेना चाहिए, नहीं तो इससे उल्टी हो सकती है। बारिश के मौसम में पत्तों पर पीछे पीले-लाल रंग के कीड़े चिपक जाते है इसे हटा दे।

गन्ने का रस पीलिया में बड़ा लाभदायक है, यह पीलिया की जड़ काट देता है।

Image Source

Remedies for Liver in Hindi

लिवर पाचन का कार्य करता है, प्लाज्मा प्रोटीन का निर्माण करता है, लोह का संग्रह करता है, रक्त के थक्कों को नियमित करता है, कोलेस्ट्रॉल कम करता है, ग्लूकोज का ग्लायकोजन के रूप में संग्रह करता है। हमारी आधुनिक जीवनशैली के कारण तथा आहार संबंधित गलत आदतों के कारण (जंकफूड, शराब, तनाव, धूम्रपान) लिवर पर अत्यधिक दबाव पड़ता है एवं स्वास्थ्य संबंधित अनेक समस्याएँ हो जाती है जैसे एलर्जी, माइग्रेन, अपच तथा मोटापा। यहाँ कुछ हर्बल औषधियाँ दी गई है जो लिवर को लम्बे समय तक स्वस्थ बनाएं रखेगी। Read Remedies for Liver in Hindi (Liver ko Swasth Rakhne Ke Upaye).

Remedies for Liver in Hindi

Remedies for Liver in Hindi

(Liver ko Swasth Rakhne Ke Upaye)

1. आँवला (Gooseberry for Liver)

आँवला विटामिन C का मुख्य स्त्रोत है। यह लिवर की कार्यप्रणाली को ठीक रखता है। इस हर्बल औषधि का प्रयोग आयुर्वेद में लिवर के उपचार में किया जाता है। वर्तमान रिसर्च के अनुसार आँवला में लिवर की रक्षा करने वाले अनेक तत्व होते है।

2. हल्दी (Turmeric for Liver)

हल्दी में बहुमूल्य एंटीऑक्सीडेंट तत्व होते है। यह लिवर के स्वास्थ्य को ठीक रखते है। हल्दी लेने का सबसे आसान तरीका यह है कि इसे आप अपने खान-पान में शामिल करें। आप नियमित रूप से हल्दी वाला दूध भी ले सकते है।

3. अलसी (Flaxseeds for Liver )

अलसी में ऐसे तत्व होते है जो हार्मोन का संतुलन बनाएं रखते है। ऐसे में लिवर को कम काम करना पड़ता है। अलसी के बीजों को सेककर टोस्ट, सलाद के साथ मिलाकर भी ले सकते है। अलसी लिवर की रक्षा करती है।

4. सब्जियाँ (Vegetables for Liver)

कुछ सब्जियाँ लिवर के लिए बहुत उपयोगी है। चुकन्दर, पत्ता गोभी, गाजर, ब्रोकली, प्याज, लहसुन आदि लिवर के स्वास्थ्य के लिए बहुत महत्वपूर्ण है। ब्रोकली, प्याज तथा लहसुन शरीर को आवश्यक सल्फर की आपूर्ति करते है।

इन सारे प्राकृतिक उपचारों के अतिरिक्त आप उन भोज्य पदार्थों का त्याग करें जो लिवर को क्षति पँहुचाते है।

Load More ...