Kidney

Treatment Of Kidney Infection In Hindi

मूत्रमार्ग में आमतौर पर इंफेक्शन होता है जो मूत्राशय में देखा जाता है। इसलिए जल्द से जल्द किडनी का इलाज होना आवश्यक है। हालांकि संक्रमण के उपचार के लिए एंटीबायोटिक आवश्यक है, पर कुछ ऐसे प्राकृतिक उपचार है, जो इसके पूरक है एवं राहत प्रदान कर सकते है। Read Kidney Infection Ka Ilaj Kidney infection treatment in hindi.

Treatment Of Kidney Infection In Hindi

Kidney Infection Ka Ilaj Kidney infection treatment in hindi

(Kidney Infection Ka Ilaj)

  • ज्यादा से ज्यादा द्रव उपयोग में लें, परन्तु चाय, कॉफी एल्कोहॉल से दूर रहे क्योंकि इनके प्रयोग से बार-बार मूत्र विसर्जन की शिकयत हो सकती है।
  • एप्पल साइडर सिरका का उपयोग किडनी के इंफेक्शन से राहत दिलाता है। एक गिलास पानी में दो चम्मच एप्पल साइडर सिरका मिलाकर दिन में दो बार लें।
  • अदरक वाली चाय पीने से गुर्दे के संक्रमण में राहत मिलती है। लगभग 1 चम्मच बारीक कटी हुई अदरक गर्म पानी में डालें (करीब 15 मिनट तक) यह गर्म अदरक की चाय पीएँ।
  • प्रतिदिन तीन टुकड़े कच्ची लहसुन के चबाएं, जब तक कि इंफेक्शन दूर न हो जाएं। (इंफेक्शन का प्रभाव कम न हो जाएं)
  • हल्दी किडनी के संक्रमण को दूर करने का एक महत्त्वपूर्ण प्राकृतिक उपाय है। हमेशा अपने खाने में हल्दी डालें एवं एक गिलास गर्म दूध में प्रतिदिन आधा चम्मच हल्दी मिलाकर पीएँ।
  • जब कोई व्यक्ति इसे किडनी इंफेक्शन के लिए उपयोग में लेता है, तो यह किडनी में बनने वाले बैक्टीरियल मेटाबॉलिज्म से छुटकारा दिलाती है। उबलते पानी में कटा हुटा अजवाइन डालें। 5 मिनिट तक अच्छे से उबालने के बाद इस अजवाइन जूस को दिन में दो या तीन बार पीएं।
Image Source

आशा है आपको ये पोस्ट Kidney Infection Ka Ilaj Kidney infection treatment in hindi पसंद आया. अपने comments हमें ज़रूर दे

 

Kidney Care In Diabetes In Hindi

किडनी शरीर के महत्वपूर्ण अंग है। यह शरीर मे पानी की मात्रा का संतुलन बनाते है। किडनी मे थोड़ी सी भी दिक्कत आपके लिए गंभीर समस्या बन सकती है। Read Kidney problem diabetes in hindi

 

Kidney Care In Diabetes In Hindi

Kidney problem diabetes in hindi

  • डायबिटीज का सबसे बड़ा खतरा यह है कि इससे किडनी पर असर पड़ता है।
  • यह तब होता है जब डायबिटीज नियंत्रण में नही रहती है।
  • दूसरे प्रकार की समस्या (CKD) मतलब किडनी की बिमारियां है। इसमें किडनी इतनी खराब हो जाती है कि वे दूसरे अंगों को भी नुकसान पहुँचा सकती है। अंत में इसमें किडनी पूरी तरह से खराब हो जाती है। जिससे टॉक्सीन तथा अन्य उत्सर्जित तत्व शुद्ध होकर शरीर से नही निकल पाते।
  • गुर्दो की मरम्मत के लिए गुर्दो का प्रत्यारोपण तथा डायलियासिस विकल्प है।

आप इससे इस प्रकार बच सकते है:

अपने गुर्दो की देखभाल करने का सबसे अच्छा तरीका यह है कि आप सही आहार ले और पर्याप्त पानी पीए। वे आहार ले जिनमें रेशा, पोटेशियम तथा आवश्यक, मिनरल पर्याप्त मात्रा में हो। तथा आप गुर्दे की बिमारियों को कम करने संबंधित जानकारी ले सकते है। 2 वर्ष में एकबार विशिष्ट जांच जैसे एलबुमिन ओर क्रिएटाइनाइन भी करा सकते है।

Image Source

डायबिटीज से कैसे बचें

दालचीनी Diabetes को Control करने के लिए एक Perfect औषधि

Diet Chart For Kidney Patients In Hindi

किडनी के मरीज की किडनी कितनी फीसदी काम कर रही है, उसी हिसाब से उसे खाना दिया जाए तो किडनीको और खराब होने से बचाया जा सकता है। Read about Diet chart for kidney patients in hindi (Kidney Patients ke Liye Diet Chart).

Kidney Patients ke Liye Diet Chart

Diet Chart For Kidney Patients In Hindi

(Kidney Patients ke Liye Diet Chart)

कैलोरीज (Calories for Kidney Patients)

दिन भर में 7-10 serving कार्बोहाइड्रेट्स की ले सकते हैं। 1 serving – 1 स्लाइस ब्रेड, 1/2 कप चावल या 1/2 कप पास्ता के बराबर होती है ।

प्रोटीन (Protein for Kidney Patients)

1 gm प्रोटीन/kg मरीज के वजन के हिसाब से लिया जा सकता है। नॉनवेज खानेवाले 1 अंडा, 30 gm मछली, 30 gm चिकन और वेज लोग 30 gm पनीर, 1 Cup दूध, 1/2 cup दही, 30 gm दाल और 30 gm टोफू रोजाना ले सकते हैं।

विटामिन (Vitamins for Kidney Patients)

दिन भर में 1 कप सब्जी और 2 फल खाए।

फॉसफोरस (Phosphorus for Kidney Patients)

फॉसफोरस से भरपूर चीज़ जैसे की मीट, मछली, अंडा, दूध, दूध से बनी चीजें, बीन्स, नट्स आदि इन्हें सीमित मात्रा में ही लें।

सोडियम (Sodium for Kidney Patients)

दिन भर में 1/4 छोटे चम्मच से ज्यादा नमक न लें। खाने में स्वाद बढ़ाने के लिए नीबू, इलाइची, तुलसी आदि का इस्तेमाल करें। पैकेटबंद चीजें जैसे कि आचार, सॉस, चीज़, नमकीन, चिप्स आदि न खाए।

पोटैशियम (Potassium for Kidney Patients)

फल, सब्जियां, दूध, दही, अंडा, मीट, मछली में पोटैशियम की मात्रा काफी होती है। इनकी ज्यादा मात्रा से किडनी पर बुरा असर पड़ता है। इसके लिए किशमिश, केला, अनार, संतरा, पपीता, भिंडी, पालक, मटर, टमाटर, न लें। पाइनएप्पल, अंगूर, सेब, तरबूज़, गोभी, गाजर, खीरा, मूली ले सकते हैं।

कैल्शियम (Calcium for kidney Patients)

दूध, पनीर, दही, टोफू, फल और सब्जियां सही मात्रा में ले। ज्यादा कैल्शियम लेने से किडनी में पथरी हो सकती है।

तरल चीजें (Liquid Diet for Kidney Patients)

जब किडनी ख़राब होनी शुरू ही होती है तब हम सामान्य मात्रा में तरल चीजें ली जा सकती हैं, पर जब किडनी काम करना कम कर दे तो लिक्विड डाइट का ध्यान रखना चाहिए। जूस, सोडा, शराब आदि न लें। किडनी की हालत देखते हुए पूरे दिन में 5-7 cup तरल चीजें ले सकते हैं।

फैट (Fat for Kidney patients)

खाना बनाने के लिए ओलिव आयल या वेजिटेबल आयल का ही प्रयोग करे। तली -भुनी चीजें ना खाए। स्किम्ड दूध ही पिए।

सही समय पर सही मात्रा में पौष्टिक खाना खाएं।

Image Source

Prevention From Kidney Problem In Hindi

किडनी शरीर का एक ऐसा अंग होता है जो शरीर से विषाक्त पदार्थों को छानकर पेशाब के रूप में निकालने में मदद करती है। रक्त को साफ करने का काम करने वाली किडनी आमतौर पर हमारी लापरवाही का शिकार होती है।  सबसे बूरी बात यह है कि किडनी ख़राब होने का पता प्रथम अवस्था में नहीं चलता है, जब ये अंतिम अवस्था में चला जाता है तब इसका पता चलता है, इसलिए इसको साइलन्ट किलर कहते हैं। Read about prevention from kidney problem in hindi (Kidney Kharab Hone se Kaise Bachaye).

Kidney Kharab Hone se Kaise Bachaye

Prevention From Kidney Problem In Hindi

(Kidney Kharab Hone se Kaise Bachaye)

किडनी खराब होने के आम कारण (Causes of Kidney Disorder)

  1. नमक का सेवन ज्यादा करने से
  2. एक दिन में 7-8 गिलास से पानी कम पीना
  3. पेशाब रोक के रखना
  4. हाई ब्लड प्रेशर का इलाज ना करवाना
  5. .डायबिटीज के इलाज में लापरवाही
  6. आराम न करना
  7. मीट ज्यादा खाना
  8. शराब बहुत ज्यादा पीना
  9. Pain killer का ज्यादा प्रयोग करना
  10. सॉफ्ट ड्रिंक्स और सोडा का ज्यादा प्रयोग करना

किडनी की बीमारी से बचने के उपाय  (Prevention from Kidney Disorder)

  • ज्यादा से ज्यादा फल और कच्ची सब्जियां खाएं। अंगूर खाने से किडनी में से फालतू यूरिक एसिड निकल जाता है।
  • एक दिन कम से कम 8-10 गिलास पानी पीएं।
  • किडनी को सही काम करने में मैग्नीशियम मदद करता है। मैग्नीशियम वाली चीजें जैसे कि गहरे रंग की सब्जियां ज्यादा खाएं।
  • रेग्युलर एक्सरसाइज, वजन पर कंट्रोल और न्यूट्रिशन से भरपूर खाना खाने से भी किडनी की बीमारी से बचा जा सकता है।
  • 35 साल की उम्र हो जाने के बाद साल में कम-से-कम एक बार शुगर और ब्लड प्रेशर की जांच जरूर कराएं।
  • नमक, सोडियम और प्रोटीन खाने में कम खाए।
  • डायबीटीज या ब्लड प्रेशर के लक्षण मिलने पर हर छह महीने में खून और पेशाब की जांच कराएं।
Image Source

Treatment for Kidney Infection in Hindi

किडनी से मूत्र का उत्पादन होता है, तथा यह यूरिनरी ब्लेडर में जिन ट्यूब्स के माध्यम से पँहुचता है, उसे यूरेटर्स कहते है। वहाँ से यह मूत्रमार्ग के माध्यम से समाप्त होता है। मूत्रमार्ग में आमतौर पर इंफेक्शन होता है जो मूत्राशय में देखा जाता है। इसलिए जल्द से जल्द किडनी का इलाज होना आवश्यक है। हालांकि संक्रमण के उपचार के लिए एंटीबायोटिक आवश्यक है, पर कुछ ऐसे प्राकृतिक उपचार है, जो इसके पूरक है एवं राहत प्रदान कर सकते है। Read Natural Treatment for Kidney Infection in Hindi (Kidney Infection ka Natural Upchar).

Natural Treatment for Kidney Infection in Hindi

Treatment for Kidney Infection in Hindi

(Kidney Infection ka Natural Upchar )

1. पानी (Water for Kidney Infection)

अधिक मात्रा में बार-बार पानी पीने से मूत्रविसर्जन के साथ किडनी के बैक्टीरियाँ भी बाहर निकल जाते है। यह बात ध्यान रहे कि ज्यादा से ज्यादा द्रव उपयोग में लें, परन्तु चाय, कॉफी व एल्कोहॉल से दूर रहे क्योंकि इनके प्रयोग से बार-बार मूत्र विसर्जन की शिकयत हो सकती है।

2. एप्पल साइडर विनेगर (Apple Cider Vinegar for Kidney Infection)

विनेगर अत्यधिक अम्लीय होता है, जो बैक्टिरियाँ को बढ़ने से रोकता है। अतः इसका उपयोग किडनी के इंफेक्शन से राहत दिलाता है। एक गिलास पानी में दो चम्मच एप्पल साइडर सिरका मिलाकर दिन में दो बार लें।

3. अदरक (Ginger for Kidney Infection)

अदरक में जो तेल होता है, जिसे जिन्जीरॉल कहते है। यह एंटीबायोटिक कार्यवाही करता है, इसलिए अदरक वाली चाय पीने से गुर्दे के संक्रमण में राहत मिलती है। लगभग 1 चम्मच बारीक कटी हुई अदरक गर्म पानी में डालें (करीब 15 मिनट तक ) यह गर्म अदरक की चाय पीएँ।

4. लहसुन (Garlic for Kidney Infection)

लहसुन अपने जीवाणुरोधी प्रभाव के लिए जाना जाता है। प्रतिदिन तीन टुकड़े कच्ची लहसुन के चबाएं, जब तक कि इंफेक्शन दूर न हो जाएं। (इंफेक्शन का प्रभाव कम न हो जाएं)

5. हल्दी (Turmeric for Kidney Infection)

हल्दी में एंटीबायोटिक, एंटीफंगल और सूजन रोधी गुण पाए जाते है। यह किडनी के संक्रमण को दूर करने का एक महत्त्वपूर्ण प्राकृतिक उपाय है। हमेशा अपने खाने में हल्दी डालें एवं एक गिलास गर्म दूध में प्रतिदिन आधा चम्मच हल्दी मिलाकर पीएँ।

6. अजवाइन (Carom Seeds for Kidney Stones)

अजवाइन काफी अच्छी तरह से एक डेटोक्स एजेंट के रूप में काम करती है। जब कोई व्यक्ति इसे किडनी इंफेक्शन के लिए उपयोग में लेता है, तो यह किडनी में बनने वाले बैक्टीरियल मेटाबॉलिज्म से छुटकारा दिलाती है। उबलते पानी में कटा हुटा अजवाइन डालें। 5 मिनिट तक अच्छे से उबालने के बाद इस अजवाइन जूस को दिन में दो या तीन बार पीएं।

यहाँ इस बात पर ध्यान दें कि यह प्राकृतिक उपाय पारम्परिक उपचार के पूरक है। इनसे पूरी तरह से किडनी इंफेक्शन खत्म नहीं होता है। हाँ, राहत मिलती है।

Load More ...