Eye Care

Remedies to Improve Eyesight in Hindi

क्या आपकी आंखे कमजोर होने लगी हैं? क्या आप किसी वस्तु को लगातार कुछ समय तक देखने में असमर्थ महसूस करते हैं? क्या आपको नजर का चश्मा लगा हुआ है? अगर आप भी  आंखों की थकान और कमजोर नजर के शि‍कार हैं, तो यह लेख आपके लिए बहुत मददगार रहेगा। Read Eye Care Aankhon ke Tips in Hindi

आंखे कमजोर होने पर होने वाली समस्याओं को दूर करने के लिए आंखों का यह व्यायाम और कुछ खास tips आपकी काफी मदद करेंगे। इसे करने के बाद आपको doctor के पास जाने की जरूरत नहीं होगी क्योंकि यह आंखों की क्षमता को बढ़ाने में बेहद प्रभावी है।

आंखों को स्वस्थ रखने और नजर को मजबूत बनाने के लिए नीचे बताए जा रहे तरीके से जाने की आंखों का यह व्यायाम कैसे करना है इसके अलावा कुछ tips जो फायदेमंद होंगे।

Tips to Improve Eye Sight in Hindi

 Eye Care Aankhon ke Tips in Hindi – Chasma hatane ke tips – aankhon ki roshni badhane ke liye gharelu upay – aankhon ke liye gharelu nuskhe  – aankhon ke dard ka ilaj

  1. अपनी आंखों को कुछ देर के लिए बंद करे। यही प्रक्रिया आपको हर 3 से 4 घंटे में बार-बार दोहरानी होगी और आंखों को कुछ मिनट के लिए बंद करना होगा। ऐसा करने से आंखों को आराम मिलेगा, जो बहुत जरूरी है।
  2. नजरकमजोर हो जाने पर नियमित रूप से आंखों का व्यायाम करें। इसमें आंखों को आराम देना होगा और आंख की पुतलियों को दाएं-बाएं और ऊपर-नीचे करने के साथ साथ चारों ओर घुमाना होगा।
  3.  अपने अंगूठे को आंखों की सीध में दोनों भौंओं (eye brows) के बीच रखें और आंखों को कुछ समय तक उसी बिंदु पर टिका कर रखें। इसके अलावा आप दीवार पर आंखों की सीध में किसी बिंदु पर ध्यान केंद्रित करें और इसे धीरे धीरे कम समय से लेकर अधि‍क समय तक करने का प्रयास करें।
  4. दीपक की लौ को एकटक निहारने की प्रक्रिया को त्राटक कहते हैं। यह प्रक्रिया आंखों की क्षमता और एकाग्रता में वृद्धि‍ करता है।
  5. गाजर खाना और गाजर का रस पीना आंखों के लिए बहुत फायदेमंद होता है। नियमित रूप से इसे पीने से आप आंखों की क्षमता में परिवर्तन महसूस करेंगे।
  6. आंखों की मांसपेशि‍यों को स्वस्थ और सक्रिय बनाए रखने के लिए आंखों की massage भी बहुत जरूरी है। Vitamin E युक्त तेल या cream से हर दिन आंखों की massage करें। आप एलोवेरा का भी प्रयोग कर सकते हैं।
  7. आप नहाते समय आंखों को हल्के गुनगुने पानी से साफ करें और उनकी सफाई का विशेष ध्यान रखें। हर थोड़े दिनों में गुलाबजल से आंखों को साफ जरूर करें।
Image Source

Tips To Improve Eyesight In Hindi

आँखों की कम रोशनी के लिए अनेक कारण जिम्मेदार होते है। अपनी आँखों की रोशनी को बढ़ाने के लिए कुछ प्राकृतिक तरीके दिए जा रहे है। Read tips to improve eyesight in hindi (Ankho Ki Roshni Kaise Badhaye).

Ankho Ki Roshni Kaise Badhaye

Tips To Improve Eyesight In Hindi

(Ankho Ki Roshni Kaise Badhaye)

  • मुँह में पानी भरकर आँखे बन्द कर ले एवं आँखों पर ठण्डे पानी के छींटे मारे।
  • आईवॉश को बनाने के लिए त्रिफला चूर्ण को रात भर पानी में भिगो देवें। सुबह उठकर इसे छानकर इसके पानी को आँखों पर छिड़के, ऐसा दिन में 2 बार करें, इससे आपकी आँखों को बहुत राहत मिलेगी
  • अपने भौंहे पर अंगूठे तथा अनामिका से ऐसे मालिश करे कि अंगूठा उपर तथा अनामिका नीचे रहे। अब धीरे-धीरे भौंहों पर दबाव बनाएं फिर सारे बिन्दुओं पर दबाव बनाएं।
  • अपनी आँखों की पुतलियों को पहले दाँए घुमाएं फिर बाएँ घुमाएं फिर ऊपर नीचे करें, यह घड़ी की दिशा में तथा घड़ी की विपरीत दिशा में करें। ऐसा तीन-चार बार करें।
  • अपने हाथों की हथेलियों को 30 सेकण्ड तक जोर-जोर से रगड़ा जाता है। जब हथेलियां गर्म हो जाए तो इसे आँखों पर लगाएं।
  • पलके झपकाने से आँखों को नमी मिलती है। राहत महसूस होती है, आँखों को हर 5-6 मिनट बाद झपकाएं।
  • सोने से शारीरिक अंगों की मरम्मत होती है तथा शरीर के अन्य अंगों की क्षतिपूर्ति की प्रक्रिया भी पूरी होती है। विशेषकर आँखों को बहुत आराम मिलता है।
  • कसरत के अलावा शरीरिक अंगों की मरम्मत के लिए आहार भी बहुत महत्वपूर्ण है। यहाँ स्वस्थ आँखों के लिए कुछ आहार संबंधित टिप्स दिए जा रहे है।
  • बादाम, किशमिश, अंजीर आदि आँखों के लिए बहुत उपयोगी है। आप घर पर भी घरेलू नुस्खों द्वारा सेखे मेवों का प्रयोग कर सकते है।
  • स्वस्थ आँखों के लिए दूसरा घरेलू नुस्खा आँवला और गाजर का रस है, इन दोनों का रस मिलाकर रोज सुबह लेवें।
  • आयुर्वेद के अनुसार तांबे के बर्तन में पानी रात भर रहने दे एवं सुबह पी जाएं, यह आँखों के लिए बहुत लाभदायक है।
  • अपने भोजन में विटामिन युक्त आहार शामिल करें। गाजर, हरी पत्तेदार सब्जियाँ, आँवला, संतरा, अंजीर, बादाम आदि विटामिन A के मुख्य स्त्रोत है।
  • मसालेदार, माँसाहारी आहारों का त्याग करें। इनमें विषैले पदार्थ होते है जिनका शरीर से बाहर निकलना बहुत आवश्यक है, इनसे शरीर को बहुत हानियाँ विशेषतौर पर आँखों संबंधित बिमारियाँ होती है।
Image Source

Causes And Remedies Of Tinnitus In Hindi

Tinnitus आम तौर पर एक गहरी समस्या का एक लक्षण है। कारण कान, दिमाग या अन्य अंगों में झूठ बोल सकती है। यदि समस्या गंभीर नहीं है और पीड़ित tinnitus और बंद पर इलाज नहीं मांगी जा सकती है आदत है। शर्त लेकिन एक कान, नाक और गला शल्य चिकित्सक या द्वारा मूल्यांकन किया जाएगा की जरूरत है। Read Causes and Remedies of Tinnitus in Hindi (Tinnitus ke Karan aur Upchar).

Tinnitus ke Karan aur Upchar

Causes And Remedies Of Tinnitus In Hindi

(Tinnitus ke Karan aur Upchar)

टिनिटस के कारण (Causes of Tinnitus)

तेज़ आवाज़ों के संपर्क में रहना (Exposed to Loud Noise)

आमतौर पर फैक्ट्री में भारी उपकरणों की आवाज़ से काफी शोर पैदा होता है। इसके अलावा गाने बजाने के तमाम उपकरण काफी शोर पैदा करते हैं। अगर आप तेज़ आवाज़ों वाली चीज़ के संपर्क में हैं तो टिनिटस होने की संभावना काफी बढ़ जाती है।

कान की हड्डियों में परिवर्तन (Chance in Ear Bone)

अगर कान की हड्डी कान के बीच में कड़ी है तो इससे सुनने की क्षमता पर असर पड़ता है। यह हड्डियों के अतिरिक्त रूप से बढ़ने की वजह होती है जिसका कारण आनुवांशिक हो सकता है।

उम्र आधारित समस्या (Age Related Problem)

उम्र बढ़ने के साथ साथ शरीर में कई समस्याएं हो जाती का कम होना हैं। सुनने की क्षमता का कम होना उम्र के साथ भी सम्बन्ध हो सकता है। इससे टिनिटस की समस्या हो सकती है। 60 साल की उम्र से यह समस्या शुरू हो सकती है। इसका चिकित्सकीय नाम प्रेस्बाईक्यूसिस है।

कान में वैक्स जमा होना (Ear Wax)

कानों का वैक्स कानों में गन्दगी और बैक्टीरिया जाने से रोकता है। कभी कभी अतिरिक्त मात्रा में मोम हमारे कानों में एकत्रित हो जाता है। ऐसे में टिनिटस की समस्या हो सकती है।

टिनिटस का उपचार (Remedies for Tinnitus)

दवाई बदलना (Change Medicine)

कई बार दवाइयों के side effects से भी टिनिटस होता है, अपनी दवाइयों को बदलें।

कान का मोम निकालें (Remove Ear Wax)

अगर कान में काफी मोम जम गया है तो इसे निकालना जरुरी है। पर इसके लिए हेयर पिन का प्रयोग न करें इससे कानों को हानि पहुँच सकती है।

कान ढकने का यंत्र (Ear Hiding Mask)

कानों को स्वस्थ रखने के लिए कान ढकने के मास्क का इस्तेमाल कर सकते हैं। इसको पहनने के बाद बाहरी शोर का सामना नहीं करना पडेगा।

वाइट नॉइज़ मशीन (White Noise Machine)

ये यंत्र पर्यावरण सम्बन्धी आवाज़ निकालते हैं जैसे समुद्र की लहरें और बारिश। यह टिनिटस का महत्वपूर्ण उपचार है।

Image Source

Eye Care Tips In Hindi

आँखें हमारे शरीर का सबसे खूबसूरत और सबसे महत्वपूर्ण sensory organ है। हर तरह की संवेदनाएं आँखों से बाहर आती हैं। आँखें चेहरे के हाव भाव को निर्धारित करने में अहम भूमिका निभाती हैं। यह लोगों से बातचीत करने का एक बेहतरीन तरीका भी है। Read eye care tips in hindi (Ankho ki Suraksha ke Liye Tips)

छोटे अक्षर देखने, computer screen पर वक़्त बिताने तथा cell phones पर आँखें गड़ाए रखकर इन्हें थकान का अनुभव करवाते हैं और इससे आँखों की समस्या बढ़ती है। आँखों की दृष्टि बेहतर बनाने के लिए नीचे कुछ नुस्खे दिए गए हैं।

Ankho ki Suraksha ke Liye Tips

Eye Care Tips In Hindi

(Ankho ki Suraksha ke Liye Tips)

1. नियमित आँखों की जांच करवाएं (Regular checkup of Eyes)

आँखों की जांच आवश्यक है, इससे यह सुनिश्चित होता है कि आँखें अच्छी स्थिति में हैं और उनका स्वास्थ्य अच्छा है। Visual acuity test से इस बात का पता लगाता है कि आँखों को स्वस्थ बनाए रखने के लिए चश्मे या lense की आवश्यकता है या नहीं। आँखों की जांच तथा उनसे सम्बंधित कुछ समस्याओं या infection जैसे glaucoma, cataract या उम्र से जुड़े macular degeneration की स्थिति में एक dilated-eye test करवाना चाहिए।

2. अपने परिवार की आँखों का इतिहास जानें (Understand Your Family’s Eye History)

क्या आपके परिवार में किसी को glaucoma की समस्या है ? क्या किसी को कभी cataract हुआ है? आँखों की कई समस्याएं hereditary के कारण होती हैं। अगर आपको लगता है कि आपके आँखों के infection से प्रभावित होने का ख़तरा ज़्यादा है, तो इससे बचने के उपाय कर सकते हैं।

3. अपना चश्मा पहनें (Wear Your Sunglasses)

चश्मा पहनने से cataract तथा crow’s feet की समस्या दूर हो जाती है। Ultraviolet किरणों से साल के किसी भी समय आँखें खराब हो सकती हैं, तथा ये सिर्फ दोपहर में ही नहीं, शाम के समय भी आपको प्रभावित कर सकती है। बड़े लेंस वाले या त्वचा से चिपकने वाले चश्मे (99 % से 100 % UVA और UVB रेडिएशन डिफेन्स) लगाए।

4. कम्यूनिकेट लेंस को सुरक्षित रखें आँखों की इन्फेक्शन से बचने के लिए (Take Care of communicate Lenses to avert Eye Infections)

Lenses को छूने से पहले हमेशा हाथो को धो लें और आँखों के infection से बचने के लिए इन्हें साफ़ तथा infection से मुक्त करें। इसके अलावा आँखों के विशेषज्ञ द्वारा सुझाए गए communicate Lenses को संभालकर पहनें।

5. आँखों के पोषण के लिए सही भोजन करें (Consume Right Food To Keep Your Eyes Nourished)

गाजर में मौजूद beta carotene आँखों के लिए काफी अच्छा होता है। इसके अलावा vitamin C, vitamin E, zinc तथा omega-3 fatty acids भी आँखों के स्वास्थ्य के लिए काफी फायदेमंद हैं। ये सब आँखों से AMD के खतरे को कम करते हैं। AMD एक प्रकार का आँखों का infection है, जिसके कारण अंधापन भी हो सकता है। Viatamin C के लिए संतरे, strawberries तथा हरी पत्तेदार सब्ज़ियाँ खाएं। जिंक की शरीर में पूर्ति के लिए टर्की turkey तथा पुल्लेट pullet का सेवन करें। Vitamin E के लिए बादाम और peanut dairy spread का सेवन करें और ओमेगा 3 omega-3 के लिए सालमन, टूना या halibut का सेवन करें।

6. कंप्यूटर के सामने ज़्यादा देर ना बैठें (Prevent Computer Eyestrain)

हममें से ज़्यादातर लोग computer या टीवी TV के सामने बैठने के समय कुछ देर के लिए break लेना या अपनी पलकें झपकाना भूल जाते हैं। इससे आँखें थकी और सूखी सी हो जाती हैं। इससे आपको सिरदर्द का सामना भी करना पड़ सकता है। आँखों के बोझ को कम करने के लिए 20-20-20 के नियम को अपनाएं – हर 20 मिनट पर 20 सेकंड के लिए अपने से 20 फ़ीट दूर देखना शुरू कर दें।

7. सूखी और थकी आँखों को राहत दें (Heal Dry, Irritated Eyes)

जैसे जैसे हमारी उम्र बढ़ती है, वैसे वैसे आँखों की शक्ति कम होती जाती है, जिससे सूखी आँखों की समस्या सामने आती है। इस समस्या से बचने के लिए vitamin A युक्त पदार्थों का सेवन करें, जैसे खरबूजा, गाजर तथा आम। सूखी हवा को नमीयुक्त बनाने के लिए humidifier का प्रयोग करें। जिस दिन काफी काफी तेज़ धूप निकली हो या फिर, हवा चल रही हो उस दिन चश्मा पहनकर ही बाहर निकलें।

Image Source

Tips for Eye Care in Hindi

आँखें हमारे शरीर में भगवान की सुंदर रचना है, आँखों के कारण ही हम Nature के सुंदर नजारों को देख पाते है, इसलिए हमें अपनी आँखों को बिमारियों से बचाना चाहिए। लेकिन आज कल सभी को आँखों से सम्बन्धित बीमारियाँ हो  रही है। आँखों में होने वाली बिमारियों में प्रदुषण का भी योगदान है। Read Tips for Eye Care in Hindi (Ankho ki Bemariyo ka Upchar).

Eye Care Tips in Hindi

Tips for Eye Care in Hindi

(Ankho ki Bemariyo ka Upchar)

आजकल बच्चों को आँखों की बीमारिया बहुत हो रही है, क्योंकि बच्चे दिनभर Television देखते रहते है, गलत भोजन करते है जैसे chow mine, Burger, Pizza, etc. Parents को बचपन से ही बच्चों को इन गलत खान पान के बारे में बताना चाहिए। आँखों के लिए फायदेमंद घरेलु उपचार।

आंवला (Gooseberry for Eyes)

आंवले को गुणों की खान कहा जाता है, बागों में लगाए जाने वाले आंवले के फल बड़े और जंगली आंवले के फल छोटे होते है। आंवला रसायन द्रव्यों में सर्वश्रेष्ठ माना जाता है। आंवले में Vitamin C प्रचुर मात्रा में होता है।

आँखों के लिए आंवले के ओषधिय प्रयोग (Medicinal Use of Gooseberry for Eyes)

  • 7 gm आंवले को कूट कर ठंडे पानी में तर कर ले। 2 से 3 घंटो बाद इन आंवलों को निचोड़ कर फेक दे और उस जल में दुसरे आंवले भिगो दें। 2- 3 घंटे बाद उनको भी निचोड़कर फ़ेंक दें। इस प्रकार 3-4 बार करके उस पानी को आँखों में डालना चाहिए।
  • 20-50 gm आंवले के फूलों को कूट कर आधा liter पानी में 2 घंटे तक उबालकर पानी को छान ले, इसे दिन में 3 बार आँखों में डालने से लाभ होता है।
  • सुबह खाली पेट और शाम को सोते समय आंवले का रस पीने से नेत्र रोगों में सुधर होता है।
  • सब्जी बनाते समय आंवले को सब्जी में डाल दें और खाना खाने के बाद आंवले को खाले।

आक का पोधा (Ank Plant for Eyes)

आक का पोधा सभी शेत्रों में पाया जाता है। ज्यादातर लोग यह मानते है की आक का पोधा जेहरिला होता है। यदि इसका सेवन अधिक मात्रा में कर लिया जाए तो उलटी दस्त होकर मनुष्य मृत्यु हो सकती है।

आँखों के लिए आक के ओषधिय प्रयोग (Ank Plants Medicinal Use for Eyes)

  • आक की छाल को जलाकर कोयला कर लें और फिर इसे थोड़े पानी में घिसकर नेत्रों के चरों ओर तथा पलकों पर धीरे धीरे लगाए। इससे नेत्रों की लाली, खुजली, पलकों की सुजन आदि मिटती है।
  • 20 gm गुलाबजल में 1 gm आक की कूटी हुई सुखी छाल 5 मिनट तक रख कर छान लें। बूंद बूंद (3 बूंद से अधिक ना डालें) आँखों में डालने से नेत्र का भारीपन, लाली, दर्द, और खुजली दूर जाती है।
  • यदि उलटी तरफ की आँख दुखती हो तो सीधे पैर का अंगूठा, यदि सीधी तरफ की आँख दुखती हो तो उलटे पैर के अंगूठे को आक के दूध से तर कर लें।

अनार (Pomegranate for Eyes)

पुरे भारत में अनार के पेड़ पाए जाते है। अनार का केवल फल ही नही बल्कि पूरा अनार का पेड़ ही गुणों की खान है। फल के बजाए कली और छिलके में अधिक ओषधियों गुण पाए जाते है।

आँखों के लिए अनार के ओषधिय गुण (Pomegranate’s Medicinal Use for Eyes)

  • अनार के 10 ताजे पत्तों का रस खरल में डाल कर शुष्क हो जाने पर कपड़े में छान कर रखदें, परतें सांय सलाई द्वारा लगायें इससे खुजली पलकों की खराबी नेत्रों के कई रोग खत्म होते है।
  • पानी में अनार के 6 पत्तों को पिस कर दिन में 2 बार लगाए और पत्तों को पानी में भिगो कर कपड़े में बांध कर आँखों पर फेरने से दुखती आँखों में लाभ मिलता है।

आँखों के लिए कुछ फायदेमंद बाते (Important Tips for Eyes)

  • रोज सुबह हाथो की हथेलियों को अच्छे से रगड़ें और आँखों पर लगा लें।
  • आँखे धोते समय पहले मुह में पानी भरलें फिर आँखे बंद कर लें और आँखों पर ठंडे पानी के छीटें मारें।
  • एक कटोरी में ठंडा पानी लें फिर आँख को खोल कर उस पानी में डुबोलें फिर दायें बाएं उपर निचे घुमालें फिर दूसरी आँख से भी ऐसा ही करें। इससे आँखों को फायदा मिलता है और आँखें ठंडी हो जाती है।
  • रोज सुबह exercise करें।
  • सर्दियों में गाजर का जूस रोज पिएं, यह आँखों की रोशनी ठीक करने में काफी साहयक है।

Note:- यहा दिए गए किसी भी नुस्खे का प्रयोग करने से पहले किसी वेध की सलहा अवश्य लें।

Remedies for Eye Irritation in Hindi

चटपटा खाना बनाते समय कई बार लोगो से मिर्ची ज़्यादा हो जाती है। ज़्यादा मिर्ची का सेवन सेहत को नुक़सानदायक है पर तुरंत तो हालत जान चली जाने जैसी हो जाती है। अगर आपके साथ भी कभी ऐसा हो जाए तो आप दूध, शहद या शक्कर आदि के सेवन से आराम पा सकते है। लेकिन कही ग़लती से मिर्ची आँखो में चली जाए तो उसे सावधानी से इन तरीके से धुले। Read Remedies for Eye Irritation in Hindi (Ankho ki Jalan Door Karne ke Upchar).

Remedies for Eye Irritation in Hindi

मिर्ची बहुत तेज़ लगती है फिर चाहे वो खाने में हो या फिर ग़लती से आँखो में चली गयी हो। मिर्ची लगते ही पहला ख़्याल सिर्फ़ यह होता है की केसे इससे निजात पाए, यहा हम आपको कुछ ऐसे तरीके बता रहे है जो इसकी जलन तुरंत कम कर देगे।

Remedies for Eye Irritation in Hindi

(Ankho ki Jalan Door Karne ke Upchar)

आँखो में मिर्ची से होने वाली जलन को ऐसे दूर करे

 

1. डेरी प्रॉडक्ट (Dairy Products to Reduce Eye Irritation)

मसालो और मिर्ची में कॅप्सेसिन नमक तत्त्व पाया जाता है जो आपके अंदर जलन पैदा करता है। दही और आइस क्रीम जैसे डेरी प्रॉडक्ट के सेवन से आपको आराम मिलेगा। इन डेरी उत्पादो में मौजूद प्रोटीन कॅप्सेसिन को तोड़कर आपकी जलन में  आराम देता है। अन्य डेरी प्रॉडक्ट जैसे मक्खन, पनीर, चीज़ आदि के सेवन से भी आपको आराम मिलेगा।

2. शक्कर या शहद (Sugar or Honey to Reduce Eye Irritation)

अगर कभी खाना खाते समय मिर्ची तेज लग जाए तो आप एक चम्मच शक्कर या शहद ले सकते है, यह आपकी जलती जीभ को आराम देगी। यह आपके सलाइवा से तीखापन को निकालने में मदद करेगी।

3. दूध (Milk to Reduce Eye Irritation)

दूध, मिर्च से होने वाली जलन को बेअसर करने में मदद करता है। ज़्यादातर मिर्च में  तेल होता है और दूध तेल को बाहर निकालने में मदद करता है। जबकि पानी से आँख को सिर्फ़ धो सकते है। इससे आपको कोई राहत नही मिलती। इसलिए बेहतर महसूस करने के लिए अपनी आँख को बार-बार दूध से धोए।

4. Saline Solution (Saline Solution to Reduce Eye Irritation)

आप अपने शरीर की प्राकृतिक रक्षा प्रणाली की सहायता करने के लिए आँखो को saline और lens solution से धोए और बाद में  कुछ समय के लिए आँख को झपकाने का प्रयास करे। साथ ही आँख को से क्योंकि ऐसा करने से कोशिकाओ के पुनः सक्रिय होने और दर्द को और बढ़ने का काम करती है।

उपर आपने जाने मिर्ची तेज लग जाने पर असरदार घरेलू नुस्खे। इन नुस्खे से आप खुद को स्वस्थ रख सकते है।

Remedies to Improve Eyesight in Hindi

आँखों से कम दिखना आजकल हर उम्र में होने वाली आम समस्या है। अपनी आँखों की रोशनी बढ़ाने के लिए नीचे दिए कुछ तरीके अपनाएं। Read Natural Remedies to Improve Eyesight in Hindi (Eyesight Improve Karne ke Liye Tips).

Natural Remedies to Improve Eyesight in Hindi

Remedies to Improve Eyesight in Hindi

(Eyesight Improve Karne ke Liye Tips)

अपने आँखों की मांसपेशियों को क्रियाशील बनाएं (Maintain Your Eye Muscles Functioning)

जब हम कोई चित्र देखते है तब हमारी आँखें उस पर केंद्रित होती है। यह चित्र दिमाग पर पँहुचती है एवं हमें पता चल जाता है कि हम क्या देख रहे है। यह आँखों एवं उसकी मांसपेशियों के द्वारा होता है। मनुष्य की आँखें टेलीविजन और फोन वाले चित्र नहीं देख सकती।

प्राकृतिक रूप से आँखों की रोशनी बढ़ाए (Increase Your Eyesight Naturally)

आँखों की कम रोशनी के लिए अनेक कारण जिम्मेदार है। अपनी आँखों की रोशनी बढ़ाने के लिए यहाँ कुछ प्राकृतिक नुस्खे दिए जा रहे है।

आँखों को क्रियाशील बनाएं (Make Your Eyes Active to Improve Eyesight)

यह तरीका बहुत आसान है, इसे हर सुबह करना चाहिए। मुँह में पानी भर आँखे बन्द कर ले एवं आँखों पर ठण्डे पानी के छींटे मारे।

अपनी आँखे धोएं (Wash Your Eyes to Improve Eyesight)

आयुर्वेद के अनुसार आँखों पर ठण्डे पानी के छींटे प्रत्यक्ष रूप से नहीं डालने चाहिए। इसके स्थान पर आप आइवाश बना सकते है। इस आईवॉश को बनाने के लिए त्रिफला चूर्ण को रात भर पानी में भिगो देवें। सुबह उठकर इसे छानकर इसके पानी को आँखों पर छिड़के, ऐसा दिन में 2 बार करें, इससे आपकी आँखों को बहुत राहत मिलेगी।

आँखों के आसपास मसाज करें (Massage Around Eyes to Improve Eyesight)

वे व्यक्ति जो लम्बे समय तक कम्प्यूटर पर काम करते है उनके लिए यह बहुत उत्तम कसरत है। अपने भौंहे पर अंगूठे तथा अनामिका से ऐसे मालिश करे कि अंगूठा उपर तथा अनामिका नीचे रहे। अब धीरे-धीरे भौंहों पर दबाव बनाएं फिर सारे बिन्दुओं पर दबाव बनाएं।

आँखों की रोशनी के लिए कसरत करें (Exercise to Improve Eyesight)

यह आँखों की पुतलियों के आसपास की माँसपेशियों के लिए की जाने वाली कसरत है। अपनी आँखों की पुतलियों को पहले दाँए घुमाएं फिर बाएँ घुमाएं फिर ऊपर नीचे करें, यह घड़ी की दिशा में तथा घड़ी की विपरीत दिशा में करें। ऐसा तीन-चार बार करें।

आँखों को पर्याप्त आराम दें (Give Proper Rest to Eyes to Improve Eyesight)

यह तकनीक आयुर्वेद में वर्षों से चली आ रही है। इसमें अपने हाथों की हथेलियों को 30 सेकण्ड तक जोर-जोर से रगड़ा जाता है। जब हथेलियां गर्म हो जाए तो इसे आँखों पर लगाएं।

पलके झपकाएं (Blink Eyes Regularly to Improve Eyesight)

पलके झपकाने से आँखों को नमी मिलती है। राहत महसूस होती है, आँखों को हर 5-6 मिनट बाद झपकाएं।

आँखें बन्द रखें (Shut Your Eyes for Few Time)

नींद बहुत आवश्यक है, इससे केवल पूरे शरीर को ही आराम नहीं बल्कि दिमाग को भी राहत मिलती है। सोने से शारीरिक अंगों की मरम्मत होती है तथा शरीर के अन्य अंगों की क्षतिपूर्ति की प्रक्रिया भी पूरी होती है। विशेषकर आँखों को बहुत आराम मिलता है।

तनाव रहित स्वस्थ आँखों के लिए आहार (Stress-Free Diet for Healthy Eyes)

कसरत के अलावा शरीरिक अंगों की मरम्मत के लिए आहार भी बहुत महत्वपूर्ण है। यहाँ स्वस्थ आँखों के लिए कुछ आहार संबंधित टिप्स दिए जा रहे है।

1. सूखे मेवे (Dry Fruits to Improve Eyesight)

बादाम, किशमिश, अंजीर आदि आँखों के लिए बहुत उपयोगी है। आप घर पर भी घरेलू नुस्खों द्वारा सेखे मेवों का प्रयोग कर सकते है। 6-10 बादाम, 15 किशमिश तथा 2 अंजीर को रात को पानी में भिगो दे, सुबह खाली पेट इन्हें खाएं।

2. गाजर और आँवला (Carrot and Gooseberry to Improve Eyesight)

स्वस्थ आँखों के लिए दूसरा घरेलू नुस्खा आँवला और गाजर का रस है, इन दोनों का रस मिलाकर रोज सुबह लेवें। गाजर और आँवला विटामिन A का मुख्य स्त्रोत है तथा इनमें भरपूर मात्रा में एंटीऑक्सीडेंट तत्व पाए जाते है। यह शरीर से ऑक्सीडेटिव स्ट्रेस का कम करता है।

3. कॉपर युक्त आहार (Copper Rich Diet to Improve Eyesight)

तांबे के अनेक स्वास्थ्य लाभ है, परन्तु इसका सबसे बड़ा लाभ यह है कि इसकी प्रकृति जीवाणुनाशक होती है। आयुर्वेद के अनुसार तांबे के बर्तन में पानी रात भर रहने दे एवं सुबह पी जाएं, यह आँखों के लिए बहुत लाभदायक है।

4. विटामिन A युक्त आहार (Vitamin A Rich Food to Improve Eyesight)

अपने भोजन में विटामिन युक्त आहार शामिल करें। गाजर, हरी पत्तेदार सब्जियाँ, आँवला, संतरा, अंजीर, बादाम आदि विटामिन A के मुख्य स्त्रोत है।

5. माँसाहारी आहार (Non Vegetarian Diet to Improve Eyesight)

मसालेदार, माँसाहारी आहारों का त्याग करें। इनमें विषैले पदार्थ होते है जिनका शरीर से बाहर निकलना बहुत आवश्यक है, इनसे शरीर को बहुत हानियाँ विशेषतौर पर आँखों संबंधित बिमारियाँ होती है।

Load More ...