Eat Healthy

वैसे तो गुड़ खाना आपके स्वास्थ्य और पाचन के लिए काफी लाभदायक होता है, लेकिन सर्दियों के मौसम में गुड़ खाने के अलग ही फायदे होते हैं। सर्दी के दिनों में गुड़ आपके लिए हर तरह से फायदेमंद होता है। जानिए सर्दियों में गुड़ खाने के बेहतरीन फायदे।  Read Gud Ke Fayde in Hindi

Benefits of Jaggery in Winters in Hindi

Benefits of Jaggery in Winters in Hindi

(Sardi Mein Gud ke Fayde in Hindi)

 

  • गुड़ की तासीर गर्म होती है, इसलिए सर्दियों के दिनों में इसका सेवन आपको गर्माहट देता है। सर्दियों के मौसम में प्रति‍दिन सेवन आपको सर्दी, खांसी और जुकाम से भी बचाता है।

 

  • आम तौर पर सर्दियों के दिनों में रक्तसंचार (blood circulation) बहुत धीमा हो जाता है। लेकिन गुड़ का नि‍यमित सेवन करना रक्तसंचार (blood circulation) को बेहतर बनाए रखने में मदद करता है। साथ ही ब्लड प्रेशर की समस्याओं में भी फायदेमंद होता है।

 

  • इन दिनों में गले और फेफड़ों में संक्रमण (infection) बहुत जल्दी फैलता है। इससे बचने के लिए भी गुड़ का सेवन बहुत मदद कर सकता है। सर्दी और संक्रमण (infection) की दवाईयों में गुड़ का प्रयोग किया जाता है।

 

  • पाचन संबंधी समस्याओं (digestion problem) के इलाज में भी गुड़ का सेवन बहुत लाभकारी होता है। खाना खाने के बाद थोड़ा सा गुड़ खाना पाचन को और भी बेहतर बनाता है।

 

  • गुड़ मैग्नीशियम (magnesium) का एक बेहीतरीन स्रोत (source) है। गुड़ खाने से मांसपेशियों, नसों और रक्त वाहिकाओं को थकान से राहत मिलती है। गुड़ खून की कमी दूर करने में भी बेहद मददगार साबित होता है।
Image Source

निम्बू के बेहतरीन फायदे

लौंग के बेहतरीन उपयोग

क्या करे क्या ना करे भोजनोपरांत

सूखे मेवों में शामिल किशमिश (raisin) के स्वाद और गुणों के बारे में तो आप जानते ही होंगे, लेकिन क्या आपने कभी किशमिश (raisin) के पानी के बारे में सुना है…… किशमिश का पानी स्वास्थ्य के लिए बड़े काम की चीज है। आइये जानते है किशमिश के पानी के यह 5 लाभ। Read Benefits of Raisin Water in Hindi (Kishmish Ke Pani ke Fayde).

 Benefits of Raisin Water in Hindi

Benefits of Raisin Water in Hindi

(Kishmish Ke Pani ke Fayde)

किशमिश (raisin) को पानी में 20 मिनट के लिए हल्की आंच पर उबल ले। इस पानी को रातभर रखकर सुबह पीना बेहद फायदेमंद होता है। आप इसे एक बार आजमाकर इसके आश्चर्यजनक फायदे पा सकते है।

 

  • रोजाना सुबह के समय किशमिश (raisin) के पानी को पीना, कई तरह के फायदे देता है। कुछ दिनों तक इसका नियमित सेवन करने से आपको कब्ज, एसिडि‍टी और थकान से बिल्कुल निजात मिल सकता है। जी, हां यकीन न हो, तो आजमाकर देखे।
  • प्रतिदिन किशमिश (raisin) का पानी पीना उन लोगों के लिए बेहद फायदेमंद है, जो अधि‍क Cholesterol Level के कारण स्वास्थ्य समस्या का सामना करते हैं। यह शरीर में ट्राईग्लिसेराइड्स (Triglyceride) के स्तर को कम करने में मददगार है।
  • इसमें Flavonoid antioxidant भरपूर मात्रा में पाए जाते हैं, जो त्वचा पर हो रही झुर्रियों को तेजी से कम करने में सहायता करता है। यह बढ़ती उम्र के निशान को कम करता है और आपको जवां दिखने में मदद करता है।
  • कब्ज (constipation) या पाचन संबंधी समस्याओं (digestion problems) से निपटने के लिए किशमिश का पानी बेहद लाभदायक पेय है। यह पाचन (digestion) को बेहतर बनाता है और अमाशय रस (Gastric juices) को बनने में मदद करता है।
  • प्रतिदि‍न किशमिश (raisin) के पानी का सेवन करना लिवर को स्वस्थ्य बनाए रखने और उसे सुचारू रूप से कार्य करने के लिए प्रेरित करता है। साथ ही यह आपके मेटाबॉलिज्म (metabolism) के स्तर को नियंत्रित करने में भी सहायक है।

    स्वास्थ लाभ के लिए इस्तेमाल करे स्टार फल

Image Source

घर पर व्यंजनों और खास तौर पर मकर संक्रांति पर चिक्की बनाने में उपयोग किए जाने वाला तिल तिल्ली, कई प्रकार से अपने खास गुणों के कारण फायदेमंद है। यह हर तरह से आपके स्वास्थ्य को बेहतर बनाने में बेहद लाभदायक है। आइये जानते है तिल केकुछ बेहतरीन फायदे। Read Health Benefits of Sesame in Hindi (Til ke Fayde in Hindi).

sesame-seeds-can-aid-pre-diabetic-blood-glucose-levels-study_strict_xxl

Health Benefits of Sesame in Hindi

(Til ke Fayde in hindi)

  • तिल का नियमित प्रयोग मानसिक दुर्बलता कम करता है, जिससे आप तनाव, depression से मुक्त रहते हैं। प्रतिदिन थोड़ी मात्रा में तिल का सेवन करने से आप मानसिक समस्याओं से निजात पा सकते हैं।
  • बालों के लिए तिल का प्रयोग वरदान साबित हो सकता है। तिल के तेल का प्रयोग या रोज थोड़ी मात्रा में तिल को खाने से, बालों का झड़ना बंद हो जाता है।
  • चेहरे पर निखार के लिए भी तिल का उपयोग किया जाता है। तिल को दूध में भिगोकर उसका paste चेहरे पर लगाने से चेहरे पर प्राकृतिक चमक आती है और रंग भी निखरता है। तिल के तेल की मालिश करने से भी त्वचा कांतिमय (Patinated) हो जाती है।
  • तिल को कूटकर खाने से कब्ज (constipation) की समस्या नहीं होती। काले तिल को चबाकर खाने के बाद ठंडा पानी पीने से बवासीर (piles) में लाभ होता है। इससे पुराना बवासीर (piles) भी ठीक हो जाता है।
  • शरीर के किसी भी अंग की त्वचा जल जाने पर, घी और कपूर के साथ तिल को पीसकर लगाने से आराम मिलता है और घाव भी जल्दी ठीक होता है।
  • सूखी खांसी हो जाने पर तिल को मिश्री व पानी के साथ सेवन करने से काफी लाभ मिलता है। लहसुन के साथ तिल के तेल को गर्म करके, गुनगुने रूप में ही कान में डालने से कान के दर्द में आराम मिलता है।
  • सर्दियों के दिनों में तिल का सेवन करने से शरीर में उर्जा का संचार होता है और इसके तेल की मालिश से दर्द में राहत मिलती है।
  • तिल, दांतों के लिए भी फायदेमंद होता है। सुबह शाम brush करने के बाद तिल को चबाने से दांत मजबूत होते हैं और यह calcium की आपूर्ति भी करता है।
  • फटी एड़ि‍यों पर तिल का तेल गर्म करके, उसमें सेंधा नमक और मोम मिलाकर लगाने से एड़ि‍यां जल्दी ठीक होने लगती है और साथ ही साथ ये एड़ियो को नरम और मुलायम भी बनाता है।
  • मुंह में छाले हो जाने पर, तिल के तेल में सेंधा नमक मिलाकर लगाने पर छाले जल्दी ठीक होने लगते हैं।
Image Source

 शतावरी के फायदे जो आप नहीं जानते होंगे

पवित्र तुलसी के अनेक फायदे

सफ़ेद मूसली के हेल्थ के लिए फायदे

Arthritis Patients Ke Liye Diet in Hindi

सेहत और सुंदरता के लिहाज से हल्दी (turmeric) के कई फायदे हैं और anti-biotic के रूप में भी हल्दी (turmeric) का इसतेमाल किया जाता है। लेकिन सभी के लिए हल्दी (turmeric) उतनी ही फायदेमंद हो यह जरूरी नहीं है। कुछ स्थि‍तियों में हल्दी (turmeric) का प्रयोग बेहद खतरनाक भी साबित हो सकता है। जानिए किन स्थतियों में हमें नहीं करना चाहिए हल्दी (turmeric) का प्रयोग। Read Haldi in Hindi

Turmeric Side Effects in Hindi

(Haldi in Hindi)

गर्भावस्था ( Pregnancy – Haldi in Hindi)

गर्भावस्था में या फिर शि‍शु होने के बाद तक महिलाओं के लिए हल्दी (turmeric) का प्रयोग हानिकारक साबित हो सकता है। हल्दी (turmeric) को मासि‍क धर्म में रूकावट या महिलाओं की अन्य समस्याओं में काफी सहायक माना जाता है, जो गर्भाशय (uterus) को उत्तेजित या सक्रिय करने में भी महत्वपूर्ण भूमिका निभाती है। हल्दी (turmeric) का प्रयोग टेस्टोस्टेरॉन (testosterone) के स्तर को कम करने में भी सहायक है। नॉर्मल डिलीवरी के लिए टिप्स

पथरी (Avoid Haldi in Kidney Stone in Hindi)

यदि आपको पित्ताशय (gallbladder) में पथरी है तो हल्दी (turmeric) का उपयोग करना अति‍रिक्त दर्द भी पैदा कर सकता है। इसलिए पित्ताशय (gallbladder) में पथरी होने पर भोजन में हल्दी (turmeric) का इस्तेमाल कम ही करें और दर्द से दूर रहें।

शुक्राणुओं में कमी (Avoid Haldi in Low Sperm Count in Hindi)

पुरुषों में हल्दी (turmeric) का अधि‍क प्रयोग शुक्राणुओं (sperm) में कमी लाने का कार्य करता है। ऐसे में यदि आप family planning की योजना बना रहे हैं, तो हल्दी (turmeric) का ज्यादा प्रयोग न करें। पुरूषों की फर्टिलिटी बढ़ाने वाले आहार

डाइबिटीज (Avoid Haldi in Diabetes)

हल्दी (turmeric) का प्रयोग शर्करा (glucose) के स्तर को कम करने का कार्य करता है। जिससे रोगी रक्त में शर्करा (glucose) के कम हो रहे कम स्तर को महसूस करता है। इसका मतलब है कि डाइबिटीज के रोगियों को हल्दी (turmeric) का प्रयोग करने की इजाजत जरूर है, लेकिन सीमित मात्रा में। दालचीनी Diabetes को Control करने के लिए एक Perfect औषधि

सर्जरी होने पर (Avoid Haldi after Surgery in Hindi)

यदि आप किसी प्रकार की surgery से गुजरे हैं तो आपको हल्दी (turmeric) का प्रयोग बिल्कुल बंद कर देना चाहि‍ए क्योंकि हल्दी (turmeric) रक्त का थक्का जमने से रोकती है और इस वजह से surgery के दौरान या बाद में अतिरिक्त खून भी बह सकता है।

Image Source

और पढ़े

 

जानिए हमेशा जवान दिखने के कुछ नुस्खे

क्यों होता है सीने में दर्द

एप्पल साइडर विनेगर के फायदे

वजन घटाने के महत्वपूर्ण तरीके

रहस्य दिल को स्वस्थ रखने के

Benefits of Rice Water in Hindi

आपके घर में चावल जरूर बनते होंगे। पके हुए चावल तो आप खाते हैं, लेकिन आपने कभी चावल का पानी पिया है? सुनकर आपको अजीब लग रहा होगा, लेकिन पके हुए चावल का पानी पीना सेहत के लिए बहुत लाभदायक होता है। यदि आप यह नहीं जानते है, तो जरूर पढ़ें चावल का पानी पीने के यह बेमिसाल फायदे। Read Benefits of Rice Water in Hindi (Chawal ke Pani ke Fayde).

Rice Water Benefits in Hindi 

(Chawal ke Pani ke Fayde)

शरीर की ऊर्जा के लिए (Rice Water for Body Energy)

आप जब चावल पक जाने के बाद उन्हें निकालते हैं, तो बचा हुआ पानी फेंके नहीं, इस पानी को काम में लीजिए। यह शरीर के लिए ऊर्जा का बेहतरीन स्त्रोत है जो carbohydrate से भरपूर है। सुबह के समय इस पानी को पीना energy boost करने के बढ़ि‍या तरीका है।

 

कब्ज से राहत (Rice Water for Constipation)

चावल का पानी फाइबर से भरपूर होता है और आपके metabolism को बढ़ाने में मदद करता है। यह पाचन तंत्र को बेहतर कर पाचन क्रिया सुधारता है साथ ही अच्छे जीवाणुओं को सक्रिय भी  करता है, जिससे कब्ज की समस्या नहीं होती।

 

डायरिया (Rice Water for Diarrhea)

बच्चे हों या फिर बड़े, दोनों के लिए डायरिया (diarrhea) जैसी समस्या के लिए चावल का पानी बेहद फायदेमंद होता है। समस्या की शुरुआत में ही चावल के पानी का सेवन करना इसके गंभीर परिणामों से बचा सकता है।

 

बुखार (Rice Water for Fever)

अगर आप  Viral Infection या बुखार होने पर चावल के पानी का सेवन करते हैं, तो आपके शरीर में पानी की कमी नहीं होगी, साथ ही शरीर को आवश्यक पोषक तत्व भी मिलते रहेंगे जो Viral Infection या बुखार जल्दी ठीक करने में मदद करेंगे।

 

डिहाइड्रेशन (Rice Water for Dehydration)

शरीर में पानी की कमी डिहाइड्रेशन (dehydration) के रूप में सामने आती है। खास तौर से यह समस्या गर्मियों में अधि‍क होती है। चावल का पानी शरीर में पानी की कमी होने से बचाता है।

 

Image Source

सेंधा नमक के फायदे

चावल से खूबसूरती पाने के तरीके

खुलकर हंसने के फायदे

नींद नहीं आती है तो ये पौधे होंगे आपके लिए मददगार

क्या आप जानते हैं,  खजूर और छुहारा एक ही पेड़ से उत्पन्न होते हैं। दोनों की ही तासीर गर्म होती है और दोनों ही शरीर को मजबूत बनाने में विशेष भूमिका निभाते हैं। छुहारे की तासीर गर्म होने के कारण सर्दियों में इसकी उपयोगिता और बढ़ जाती है। आइए जानते है छुहारे के अनूठे फायदे। Read Khajur Benefits in Hindi, Khajur  Chuhare ke fayde in Hindi

   Dates Benefits in Hindi

( Khajur Chuhare ke fayde in Hindi)

बिस्तर पर पेशाब (Date for Bed Wetting)

छुहारे खाने से पेशाब का रोग दूर हो जाता है। बुढ़ापे में बार-बार पेशाब आता हो तो, दिन में दो छुहारे खाने से लाभ मिलेगा। छुहारे वाला दूध भी काफी लाभकारी होते है। अगर बच्चा बिस्तर पर पेशाब करता हो तो उसे रात को छुहारे वाला दूध पिलाएं। यह शक्ति पहुचाता हैं।

मासिक धर्म (Date for Proper Mensuration)

छुहारे खाने से मासिक धर्म खुलकर आता है और कमर दर्द में भी आराम मिलता है।

हड्डिया और दांत (Date for Bone Decay)

छुहारे खाकर गर्म दूध पीने से calcium की कमी से होने वाले रोग, जैसे, हड्डियों का गलना, दांतों की कमजोरी इत्यादि रूक जाते हैं

ब्लड प्रेशर (Date for Blood Pressure)

जिनका ब्लड प्रेशर कम रहता है वह 3-4 खजूर को गर्म पानी में धोकर उनकी गुठली निकाल दें। फिर इसे गाय के गर्म दूध के साथ उबाल लें। इस उबले हुए दूध को सुबह-शाम पीएं। कुछ ही दिनों में कम ब्लड प्रेशर से छुटकारा मिल जाएगा।

कब्ज (Date for Constipation)

सुबह-शाम तीन छुहारे खाकर गर्म पानी पीने से कब्ज (constipation) दूर होती है। भोजन के साथ खजूर का अचार खाया जाए तो अजीर्ण रोग (indigestion problem) नहीं होते और मुंह का स्वाद भी ठीक रहता है। खजूर का अचार बनाना थोड़ा कठिन है, इसलिए बना-बनाया अचार ही ले लेना चाहिए।

डायबिटीज (Date for Diabetes)

डायबिटीज रोगी, जिनके लिए मिठाई, चीनी इत्यादि वर्जित है, वह सीमित मात्रा में खजूर के हलवे का सेवन कर सकते है। खजूर में वह अवगुण नहीं है, जो गन्ने से बनी चीनी में पाए जाते हैं।

पुराने घाव (Date for Old Wounds)

पुराने घावों को ठीक करने के लिए खजूर की गुठली को जलाकर उसका भस्म बना लें। घावों पर यह भस्म लगाने से घाव भर जाते हैं।

आंखों के रोग (Date for Eye Problem)

खजूर की गुठलियो का सुरमा आंखों में लगाने से आंखों के रोग दूर हो जाते हैं।

खांसी (Date for Cough

दिन में 2-3 बार छुहारो को घी में भूनकर सेवन करने से खांसी, जुकाम, छींक और बलगम में राहत मिलती है।

जुएं (Date for Lice

खजूर की गुठलियो को पानी में घिसकर सिर पर लगाने से जुएं मर जाती हैं।

Image Source

अंजीर के फायदें

एलोवेरा के बेशुमार फायदे

शिलाजीत के फायदे

पुदीने का सेवन स्वास्थ के लिए है फायदेमंद

लाल मिर्च है बड़े काम की चीज, जानिए कैसे

शकर, मिठास के रूप में आपके जीवन का एक अभिन्न अंग है। लेकिन जितनी अच्छी इसकी मिठास लगती है उतने ही बुरे इसके कुछ नुकसान हैं। अगर आपको भी शकर खाने की आदत है, तो एक बार जरूर जान लें, इससे होने वाले नुकसान। Read Bad Effects of Sugar in Hindi (sugar shakkar ke nuksaan in hindi)

Bad Effects of Sugar in Hindi

Sugar side effects in Hindi – Shakkar ke nuksaan in Hindi -Sugar ke nuksaan in Hindi

 

डाइबिटीज का खतरा (Diabetes Risk due to Sugar)

आपके परिवार में अगर किसी को डाइबिटीज है, तो आपको बेशक शकर का प्रयोग कम से कम करना चाहिए, क्योंकि यह अनुवांशि‍क (heredity) रूप से डाइबिटीज का कारण बन सकती है।

 

खुजली (Itching due to Sugar)

शकर का अत्यधि‍क सेवन, गुप्तांगों में खुजली की समस्या पैदा कर सकता है। यह गुप्तांगों द्वारा अत्यधि‍क तरल स्त्राव (Liquid discharge) और infection के लिए भी जिम्मेदार हो सकता है।

हृदय रोग (Heart Diseases due to Sugar)

शकर या मीठी चीजों का अधि‍क सेवन, हृदय की नलियों में वसा (fat) का जमाव कर उसे block करने में मदद करता है और नली को अंदर से संकरा कर देता है। इससे हृदय रोगों या heart attack की संभावना बढ़ जाती है।

एग्जिमा (Eczema due to Sugar)

त्वचा पर भी शकर का अधि‍क सेवन बुरा असर डालता है। यह त्वचा में खुजली, लालिमा या अन्य परेशानियां पैदा करता है। शकर का अत्यधि‍क प्रयोग एग्जिमा (Eczema) की संभावना को बढ़ा देता है।

हड्ड‍ियां कमजोर (Weak Bones due to Sugar)

दांतों की ऊपरी परत के अलावा इसका प्रयोग हड्ड‍ियों को कमजोर करने में भी मुख्य भूमिका निभाता है। ऑस्टि‍योपोरासिस (osteoporosis) जैसी समस्याओं के लिए भी शकर का अत्यधि‍क सेवन जिम्मेदार है।

क्या है शक्कर का स्वास्थवर्धक विकल्प

सफ़ेद मूसली के हेल्थ के लिए फायदे

नारियल तेल खाने और लगाने के फायदे

जाने चावल का पानी पीने के बेमिसाल फायदे

शतावरी के फायदे जो आप नहीं जानते होंगे

Benefits of Gelatin in Hindi

अगर आप जोड़ों और हड्ड‍ियों के दर्द से परेशान हैं और सेहत की अन्य समस्याओं से भी घि‍रे हुए हैं, तो बिल्कुल परेशान न हों, हमारे पास इसका इलाज है। जिलेटि‍न (Gelatin) के प्रयोग से आप दर्द और कई तरह की समस्याओं से आजादी पा सकते हैं। जानि‍ए जिलेटि‍न का प्रयोग कैसे करना है। Read Gelatin Benefits in Hindi – Gelatin ke Fayde in Hindi.

इसके लिए आपको लगभग 150 gm जिलेटिन (Gelatin) की जरूरत होगी, जो महीने भर काम आ सकता है। लगभग 2 चम्मच जिलेटि‍न (gelatin) को एक चौथाई कप fridge के ठंडे पानी में घोलें और रात भर इसे यूंही रहने दें। सुबह उठकर जब यह jelly की तरह गाढ़ा हो जाए, तब इसका सेवन करें। आप चाहें तो इसमें दही, शहद, जूस, पानी mix करके पी स‍कते हैं।

आपको लगभग 1 महीने तक लगातार, सुबह खाली पेट इसका सेवन करना है। हर 6 महीने में इसे दोहराना है। आप कुछ ही दिनों में खुद ही इसके बेहतरीन लाभ महसूस करेंगे। जानि‍ए इसके  बेहतरीन सेहत लाभ।

Benefits of Gelatin in Hindi

(Gelatin ke Fayde)

जोड़ों का दर्द (Gelatin for Joint Pain)

जिलेटिन (Gelatin) के नियमित प्रयोग से जोड़ों में चिकनाहट बनी रहेगी और जोड़ों के दर्द व ऑस्टियोपोरोसिस (osteoporosis) जैसी बीमारियों से पूरी तरह से निजात मिलेगा। इसके अलावा हड्डि‍यों के दर्द और कमर के दर्द में राहत मिलेगा।

मेटाबॉलिज्म (Gelatin Improves Metabolism)

यह मेटाबॉलिज्म को बढ़ाने और सेहत के अन्य फायदे पाने के लिए एक बेहतरीन तरीका है। इससे मोटापे को नियंत्रित करने में भी मदद मिलती है।

मानसिक क्षमता (Gelatin Improves Mental Strength)

इसके प्रयोग से दिमागी मांसपेशि‍यों को भी मजबूती मिलती है और मानसिक क्षमता (mental strength) में बढ़ोत्तरी होगी। इससे आप ऊर्जा व ताजगी महसूस करेंगे और तनाव से भी बच सकेंगे।

 लचीलापन (Gelatin improves Flexibility)

हड्ड‍ियों को बांधे रखने वाले तंतुओं और शि‍राओं में लचीलापन (flexibility) बनाए रखने में य‍ह काफी मददगार है। इससे मांसपेशि‍यों में अकड़न संबंधी समस्याएं नहीं होंगी।

बाल और नाखून (Gelatin for Hair and Nails)

जिलेटिन (Gelatin) बालों और नाखूनों को पोषण देने के साथ-साथ उन्हें प्राकृतिक चमक देने और टूटने से बचाने में भी बेहद मददगार है।

 ये भी पढ़े

आपका हमारा रसोईघर ही है प्राथमिक चिकित्सालय

खजूर (छुहारे) खाने के फायदे –

शकर के ये नुकसान

प्रोटीन क्या काम करता है ?

हरी बीन्स एक ऐसी सब्जी है जिसके उपयोग से आपके शरीर की पौष्ट‍िक आवश्यकताओं की पूर्ति हो जाती है। कई फायदेमंद खनिजों से परिपूर्ण हरी बीन्स में पर्याप्त मात्रा में विटामिन A, C, K और B 6 पाया जाता है। ये फॉलिक एसिड का भी एक अच्छा स्त्रोत हैं। Read Health Benefits of Green Beans in Hindi Fali ke Fayde in Hindi

Health Benefits of Green Beans in Hindi

Health Benefits of Green Beans in Hindi

(Fali ke Fayde in Hindi)

  • आप ग्रीन बीन्स से पूरे भरे कप का आनंद ले सकते है जबकि इससे केवल 45 कैलोरी ही मिलेगी। अपने सारे फाइबर के साथ ग्रीन बीन्स वास्तव में पेट भरने वाली साइड डिश है।
  • ग्रीन बीन्स में एंटीइंफ्लेमेटरी तत्व होते है जो सूजन के कारण होने वाली बिमारियों जैसे अर्थराइटिस और अस्थमा में इसे फायदेमंद बनाता है।
  • ग्रीन बीन्स डाइटरी फाइबर से भरपूर होती है जो मल त्याग को आसान बनाती है और विषाक्त पदार्थों के संपर्क का समय घटाकर आंतों की श्लेष्मा झिल्ली को सुरक्षा प्रदान करने में सहायक है।
  • ग्रीन बीन्स इसकी फलियों के द्वारा सामान्य मूत्र प्रवाह को बढ़ाती है क्योंकि ये शक्तिशाली मूत्रवर्धक मानी जाती है।
  • वास्तव में ग्रीन बीन्स की प्रत्येक खुराक में खनिज जैसे मैंग्नीशियम, कैल्शियम, आयरन के साथ मैंग्नीज आदि होते है जो सभी मेटाबॉलिक प्रक्रिया को सुधारने से जुड़े हुए है।
  • गर्भावस्था की शुरूआत या शायद गर्भवती होने के पहले ही ग्रीन बीन्स का नियमित रूप से सेवन करने की सलाह दी जाती है। क्योंकि इसमें मौजूद फ़ॉलिक एसिड का प्रभाव गर्भाशय में शिशुओं की तंत्रिकाओं और मस्तिष्क के विकास के लिए बढि़या होता है।
Image Source

दालचीनी के फायदे

मुलेठी के अनसुने फायदे

हड्डि‍यों का दर्द होगा दूर जिलेटिन से

अंजीर के फायदें

केले के चमतकारी वैदिक फायदे

Disadvantages of Dry Fruits in Hindi

यह बात बिल्कुल सही है कि‍ सूखे मेवे यानि की dry fruits खाना सेहत के लिए बहुत फायदेमंद होते हैं, लेकिन इनका अत्यधि‍क सेवन सेहत के लिए हानिकारक भी हो सकता है। सूखे मेवों (Dry fruits) का अधि‍क सेवन वजन के लिहाज से भी नुकसानदेह हो सकता है। अगर आप नहीं जानते हैं तो यह जरूर जानें कि सूखे मेवों की अधि‍क मात्रा में खाने से यह 5 नुकसान हो सकते हैं। Read Disadvantages of Dry Fruits in Hindi (Dry Fruits ke Nuksan).

Disadvantages of Dry Fruits in Hindi

Disadvantages of Dry Fruits in Hindi

(Dry Fruits ke Nuksan)

 

  • Dry fruits फाइबर का बेहतरीन स्त्रोत है। कुछ मात्रा में dry fruits का सेवन करना सेहत के लिए बेहतर होता है, लेकिन आवश्यकता से अधि‍क मात्रा में इनका सेवन गैस, कब्ज, डायरिया और पेट से जुड़ी अन्य समस्याएं भी पैदा कर सकता है। ध्यान रखें कि इनका प्रयोग सीमित मात्रा में ही करें।
  • Dry fruits को diet में शामिल करना वजनको संतुलित करने का एक बढ़ि‍या विकल्प है लेकिन इनका अधि‍क मात्रा में सेवन करने से यह वजन बढ़ाता हैं और अतिरिक्त calories भी देते हैं।
  • सूखे मेवों में विभि‍न्न प्रकार के पोषक तत्वों के साथ-साथ प्राकृतिक शर्करा भी पाए जाते है। लेकिन कुछ सूखे मेवों में fructose के रूप में यह शर्करा अत्यधिक‍ मात्रा में होती है जो आपके लिए हानिकारक हो सकती है। यह blood pressureऔर diabetes के मरीजों के लिए नुकसानदायक है।
Image Source
Load More ...