आक के अर्क के ओषधिय प्रयोग Aank ke Ark ke Fayde

Benefits of Madars Extract in Hindi

आक के पौधे शुष्क, बंजर और ऊँची भूमि में प्राय: सर्वत्र देखने को मिलते हैं। इस वनस्पति के बारे में सब ये जानते है कि आक का पौधा विषेला होता है तथा यह मनुष्य के लिए घातक है। यह सत्य है। यदि इसका सेवन अधिक मात्रा में कर लिया जाए तो, उल्टी दस्त होकर मनुष्य मृत्यु भी हो सकती है। यदि Aank  का सेवन उचित मात्रा में, योग्य तरीके से हो तो अनेक रोगों में इससे बडा फायदा होता है। इसका हर अंग दवा की तरह है ।  एवं यह सूर्य के समान तेजस्वी और पारे के समान उत्तम तथा दिव्य रसायन हैं। इसकी 3 जातियाँ पाई जाती है, जो निम्न प्रकार है: Read Aank ke Ark ke Fayde

 

श्वेतकार्क 

इसका फूल लाल आक के पुष्प से कुछ बडा और हलके पीला रंग और आकार में सफेद कनेर के फूल जैसा होता है। यह मन्दिरों मेँ लगाया जाता है। इसमें दूध अधिक होता है।

रक्तार्क

इसके फूल श्वेत रंग के छोटे और भीतर लाल और बैंगनी रंग की चित्ती वाले होते है। इसमे कम दूध होता है।

राजार्क

इसके पौधो में 1 ही शाखा होती है, जिस पर सिर्फ 4 पत्ते लगते हैं। इसके फूल चांदी जैसे श्वेत रंग के होते है, यह दुर्लभ जाति है। इसके अतिरिक्त आक की एक और जाति पाई जाती है, जिसमें पिस्तई रंग के फुल लगते है।

Benefits of Madars Extract in Hindi

आक के अर्क के गुणधर्म Aank ke Ark ke Fayde

  • Red  आक का flower मधुर और कड़वा, ग्राही, कृमि, कुष्ठ, कफ, बवासीर, रक्तपित, विष, गुल्म तथा सूजन को नष्ट करने वाला है।
  • सफेद Aank  का flower  हल्का, वीर्य-वर्धक, दीपनपाचन, मुह से पानी आना, अरूचि, बवासीर, खासी तथा स्वास नाशक है।
  • Aank  का दूध, गर्म, कड़वा, खारा, चिकना, कोढ हल्का, एवं तथा उदररोग नाशक है। विरेचन कराने में यह अति उतम है।
  • Aank के पत्ते रेचक, वामक, भ्रमकारक कासश्वाश, शोथ, कर्णशूल, उरुस्तम्भ, कुंष्ठ पामा आदि नाशक है।
  • मूलत्वक: हृदयोत्तेजक, रवत्त शोधक है। इससे रक्त, ह्रदय की गति और संकोच शक्ति बढती है।

 

आक के अर्क के ओषधिय प्रयोग (Medicinal Use Of  Madars Extract)

 

1. सिर की खुजली (Aank ke Ark for Itchy scalp)

इसे सिर पर लगाने से Pruritus clade युक्त अरुषिका में लाभ होता है।

 

2. मुँह की झाँइं, धब्बे आदि (Aank ke Ark Wrinkles and Spots)

3 gm हल्दी के चूर्ण को आक के दूध की 5-7 बूंद व गुलाब जल में घोटकर आंखों को बचाकर झुर्रियों पर लगायें, इससे लाभ मिलेगा। कोमल प्रक्रति वाले लोगो को आक की दूध की जगह आक का रस प्रयोग करना चाहिए। रिंकल्स हटाने के लिए घरेलु उपाय

3. कर्णरोग (Aank ke Ark for Ear Disease)

तेल और लवण से युक्त आक के पत्तों को बाय हाथ में लेकर दाहिने हाथ से 1 लोहे की करछी को गरम कर उसमें डाल दें। फिर इस तरह जो अर्क पत्रों का रस निकले उसे कान में डालने से कान के रोग दूर होते है। कान’ में साँय…साँय आवाज होना आदि में बहुत लाभ मिलता हे।

 

4. नेत्र रोग (Aank ke Ark for Eye Disease)

20 gm गुलाब जल में 1 gm कुटी हुई सूखी अर्क मूल की छाल 5 मिनट तक रखकर छान लें। में बूंद-बूंद डालने से (3 या 5 बूंद से अघिक न डालें) आंखों की लाली, भारीपन दूर होता है। कीच की अधिकता और खुजली दूर हो जाती है।

सावधानी : आक का दूध आँख में नही लगना चाहिए।

 

5. कर्णशूल (Aank ke Ark for Ear Pain)

Aank  के पत्ते जो पीले पड़ गए हो उनपर थोडा घी लगा कर आग पर रख दें, जब वे झुलसने लगें, तब चटपट निकालकर निचोड लें। रस को थोडी गरम अवस्था में ही कान में डालने से तीव्र तथा बहुताधिक वेद कान का दर्द नष्ट हो जाता है।

 

6. वमन(Aank ke Ark for Nausea)

अर्कमूल की शुष्क छाल को समभाग अदरक के रस में भली प्रकार खरल कर 125 mg की गोलियों बनाकर धूप में सूखने रख दे। शहद के साथ सेवन करने से किसी भी प्रकार का वमन 1-2 गोली से बन्द हो जायेगा।

 

7. मोतिया बीन्द(Aank ke Ark for Cataract)

आक के दूध में 10 gm पुरानी ईट का महीन चूर्ण तर कर सुखा लें। फिर उसमें 6 नग लोंग मिलाए, खरल में अच्छे से महीन करके बारीक कपडे से छान लें। इस चूर्ण को चावल भर नासिका द्वारा प्रतिदिन प्रात: नस्य लेने से शीघ्र लाभ होता है। यह सर्दी-जुकाम में भी लाभ करता है।

सावधानी :- आक का पौधा विषेला होता है। इसके दूध का अधिक मात्रा में सेवन करने से उल्टी दस्त होकर मनुष्य की मृत्यु हो सकती है। इसका उपयोग सावधानी पूर्वक करे।

 

You may also like

Benefits of Pudina for Asthma in Hindi

Benefits of Shatavri in Hindi

Benefits of Shilajit in Hindi

Benefits Of Curry Leaves In Hindi

Health Benefits of Neem in Hindi

Fenugreek Benefits in Hindi

Benefits of Mint in Hindi

Benefits of Spices and Herbs in Hindi

kutki benefits

Benefits of Methi in Hindi

Health Benefits of Black Pepper in Hindi

Tulsi Benefits in Hindi

Health Benefits of Tulsi in Hindi

Benefits of Ginger in Hindi

Shatavari Benefits in Hindi

Benefits of Basil Ginger Clove in Hindi

Mulethi Benefits In Hindi

Benefits Of Neem Oil In Hindi

Benefits of Fenugreek in Hindi

Mint Benefits in Hindi

Aloevera Benefits in Hindi